चेन्नई। मुख्यमंत्री ईडाप्पाडी के पलानीस्वामी ने बुधवार को शहर के एग्मोर स्थित राजरत्निम स्टेडियम में पुलिस एवं अन्य वर्दीधारी सेवाओं के कर्मचारियों की परेड की सलामी ली। इस अवसर पर उन्होंने पुलिस, अग्नि एवं बचाव सेवा तथा कारागार विभाग में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को सम्मानित किया। उन्होंने कुल मिलाकर २०१ कर्मचारियों को पदक प्रदान किए। हर वर्ष राज्य सरकार द्वारा इस प्रकार का पदक राष्ट्रपति, गृह मंत्री और मुख्यमंत्री के नाम पर राज्य में अपनी ड्यूटी के दौरान बेहतर प्रदर्शन करने वाले पुलिसकर्मियों,जेल कर्मचारियों तथा अग्नि एवं बचाव सेवा विभाग के कर्मचारियों को प्रदान किया जाता है। २०१ पदकों में से १५९ पदक पुलिस विभाग के प्रतिभावान कर्मचारियों को, १७ पदक कारागार विभाग के कर्मचारियों को,१६ पदक अग्नि एवं बचाव सेवा विभाग के कर्मचारियों को और ९ पदक होमगार्ड के जवानों को प्रदान किए गए। मुख्यमंत्री ने सभी पदक विजेताओं को शुभकामनाएं दी। उन्होंने उपस्थित सुरक्षा बलों को संबोधित करते हुए राज्य की सुरक्षा के लिए उनके द्वारा समर्पित ढंग से दी जा रही सेवाओं के लिए उनकी प्रशंसा की।मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर उपस्थित पुलिसकर्मी एवं अन्य वर्दीधारी सेवाओं के कर्मचारियों को संबोधित करते हुए राज्य में बेहतर कानून व्यवस्था बनाए रखने में राज्य की पुलिस का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि हमारी पुलिस देश के कई राज्यों की पुलिस की तुलना में बेहतर प्रदर्शन कर रही है। उन्होंने कहा कि चेन्नई पुलिस ने देश के अन्य महानगरों की तुलना में अच्छा प्रदर्शन किया है और यही कारण है कि चेन्नई देश में महिलाओें के लिए सुरक्षित महानगरों की सूची मंे शामिल हुआ है।उन्होंने अग्नि एवं बचाव सेवा विभाग के कर्मचारियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि किसी भी आग लगने की घटना में विभाग के कर्मचारियों द्वारा किया जाने वाला कार्य प्रशंसनीय है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अग्नि एवं बचाव सेवा विभाग द्वारा त्वरित कार्रवाई के कारण इसी वर्ष मिनाक्षी मंदिर में लगी आग को काफी समय में नियंत्रित कर लिया गया। यदि विभाग के कर्मचारियों द्वारा त्वरित कदम नहीं उठाया जाता तो यह दुर्घटना काफी ब़डा रुप ले सकती थी। उन्होंने जेल प्रशासन विभाग के कार्यों की भी प्रशंसा की। इस अवसर पुलिस महानिदेशक टीके राजेन्द्रन एवं कारागार विभाग तथा अग्नि एवं बचाव सेवा विभाग के शीर्ष अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY