चेन्नई। मुख्यमंत्री इडाप्पाडी के पलानीस्वामी ने मंगलवार को उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम के साथ ४०७ स्व वित्त पोषित आवासीय इकाइयों का शुभारंभ किया। इन आवासों का निर्माण सरकार द्वारा प्राप्त सब्सिडी और लाभार्थियों द्वारा खुद की राशि खर्च कर किया गया है। राज्य सरकार ने स्व वित्त पोषित भवन योजना के तहत भवन इकाइयों के लिए आधी राशि आवंटित की है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कई अन्य परियोजनाओं का भी शुभारंभ किया।मुख्यमंत्री ने स्थानांतरित होकर राज्य के अन्य हिस्सों से चेन्नई में सेवा देने के लिए आने वाले पुलिसकर्मियों के लिए निर्मित २३ पुलिस क्वार्टरों का भी शुभारंभ किया। उन्होंने ५ पुलिस स्टेशन के भवनों और अग्नि एवं बचाव सेवा विभाग के कर्मचारियों के लिए निर्मित क्वार्टरों का भी उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि सरकार सरकारी कर्मचारियों और राज्य की आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग के नागरिकों के लिए समुचित सुविधा उपलब्ध करवाने की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के पदचिन्हों का अनुसरण कर रही है।उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि इन आवासीय परियोजनाओं से हमारे पुलिस विभाग, अग्नि एवं बचाव सेवा विभाग और अन्य विभागों के कर्मचारियों को समुचित ढंग से रहने में आसानी होगी। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से कई अन्य आवासीय परियोजनाओं का कार्य पूरा करने पर ध्यान दिया जा रहा हैै। उन्होंने कहा कि सरकार विभिन्न लंबित आवासीय परियोजनाओं जिनमें केन्द्र सरकार की मदद से शुरु की गई और पूर्ण रुप से राज्य सरकार द्वारा शुरु की गई परियोजनाएं शामिल हैं, को पूरा करने पर विशेष रुप से ध्यान दे रही है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने तिरुवल्लूर जिले और तिरुत्तनी जिले में निर्मित २४ पुलिस स्टेशनों के भवनों का भी उद्घाटन किया। उन्होंने तिरुवरुर में चार सरकारी स्कूलों में निर्मित नए कक्षाओं का भी उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम के दौरान राज्य कारागार विभाग के ८३ कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र सौंपा। मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य कारागार विभाग में पिछले छह महीनों के दौरान ३०० से अधिक रिक्त पद भरे गए हैं। कार्यक्रम में राज्य के मुख्य सचिच गिरीजा वैद्यनाथन एवं अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY