bharat bandh
bharat bandh

पटना। कांग्रेस और विपक्ष के अन्य दलों द्वारा बुलाया गया भारत बंद एक बच्ची की जान पर भारी पड़ गया। बिहार के जहानाबाद में बंद के दौरान ट्रैफिक जाम में फंसे रहने के बाद इस बच्ची की मौत हो गई। वह काफी बीमार थी। बंद के कारण उसे समय पर चिकित्सा सुविधा नहीं मिल पाई। बंद समर्थकों ने ऐसे हालात पैदा कर दिए कि ज़िंदगी और मौत से जूझती इस बच्ची को वक्त पर रास्ता नहीं मिला। इसके बाद बच्ची ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

इस घटना से बंद के तौर-तरीकेों पर ही काफी सवाल उठने लगे हैं। कांग्रेस ने बंद से पहले कहा था कि यह ​शांतिपूर्ण आंदोलन रहेगा लेकिन आज पूरे देश ने देखा कि प्रदर्शनकारियों ने कई जगह भयंकर उपद्रव मचाया। इससे आम लोगों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा। यातायात व्यवस्था चरमरा गई, सड़कें जाम कर दी गईं। इन्हीं हालात की कीमत इस बच्ची ने चुकाई।

भारत बंद के दौरान बिहार में कई जगह हिंसक प्रदर्शन होने की खबरें हैं। प्रदर्शनकारियों ने ट्रेनें रोकीं। इससे उन यात्रियों का काफी तकलीफें हुईं। इसी प्रकार मध्य प्रदेश के उज्जैन में प्रदर्शनकारियों ने पेट्रोल पंप पर तोड़फोड़ की। गुजरात में कई जगह टायर जलाकर रास्ते रोके गए हैं। पटना से खबर है कि यहां कई स्थानों पर उग्र प्रदर्शन किया गया।

बच्ची की मौत पर भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने विपक्ष से सवाल किया है कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि बंद के दौरान भी एंबुलेंस, दवा आदि सेवाओं को नहीं रोका जा सकता। उन्होंने कहा कि जहानाबाद में कांग्रेस और विपक्ष ने एंबुलेंस को नहीं जाने दिया। इसी से यह बच्ची काल का ग्रास बन गई। रविशंकर प्रसाद ने इस प्रदर्शन को हिंसा का खेल बताया और कहा कि इसे बंद करना चाहिए। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हम जनता के साथ खड़े हैं और समाधान निकाला जाएगा।

ये भी पढ़िए:
– भाजपा ने ​पेश किया ‘विजन 2022’, कहा- विपक्ष के पास न नेता, न नीति और न ही रणनीति
– ‘कश्मीर में घट गई आतंकियों की उम्र, सुरक्षाबलों ने दो साल में मारे 360 से ज्यादा आतंकी’
– भोजपुरी एक्ट्रेस अंजना सिंह की ये 3 फिल्में मचा रही हैं धमाल, सिनेमाघरों में छाया जलवा
– ‘स्त्री’ में भूत का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस असल ज़िंदगी में दिखती हैं ऐसी
– सिद्धू पर बोले तारेक फतह- ‘जेल में बंद मरियम नवाज़ से मिलते तो होते असली पंजाबी’

LEAVE A REPLY