नई दिल्ली/एजेन्सी चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग लाने के प्रस्ताव के बीच सत्ताधारी दल और विपक्षी पार्टी की बयानबाजी तेज हो गई है। इस पूरे मामले पर बीजेपी ने कांग्रेस पर संविधान का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। बीजेपी ने कहा कि विपक्ष की तरफ से न्यायपालिका को लेकर लगातार राजनीति हो रही है। विपक्ष कोर्ट पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है। वहीं वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी विपक्ष पर आरोप लगाया है कि वह महाभियोग को हथियार बनाकर जजों को डराने की कोशिश कर रही है।वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखकर जजों के महाभियोग को लेकर तीखा हमला बोला। जेटली ने महाभियोग को ’’बदले की याचिका’’ बताते हुए कहा कि इस पूरे मामले को हल्के में लेना खतरनाक हो सकता है। यह प्रकरण पूरी न्यायपालिका की आजादी के लिए खतरा है। जेटली ने अपनी पोस्ट में जज लोया की मौत को लेकर कल सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बार में लिखा है। उन्होंने बताया कि उन्होंने ११४ पेज के इस फैसले को प़ढा, जिसे जस्टिस डीवाई चंद्रचू़ड ने लिखा है। वित्त मंत्री ने सोहराबुद्दीन के एनकाउंटर से लेकर अमित शाह और जज लोया की मौत का विस्तार से ब्यौरा दिया है। अपनी पोस्ट में अरुण जेटली ने जज लोया की मौत को लेकर कारवां मैगजीन में छपे लेख को फेक न्यूज बताया। उन्होंने कहा कि यह पूरा मामला इस सरकार और बीजेपी अध्यक्ष की छवि को धूमिल करने के लिए उठाया गया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY