इंदौर। देश में इंटरनेट के जरिए उभरी स्टैंड-अप कॉमेडियनों की नई पौध में शामिल राहुल सुब्रमणियन को लगता है कि राजू श्रीवास्तव सरीखे पुरानी पी़ढी के हास्य कलाकारों के दिन अभी लदे नहीं हैं। लेकिन दर्शकों की परिपक्वता में इजाफे के बीच स्टैंड-अप कॉमेडी की विधा नए अवतार में सामने आ रही है।सुब्रमणियन ने यहां कहा, मेरा मानना है कि दर्शकों की अलग-अलग पसंद के कारण कॉमेडी का क्षेत्र बहुत विशाल है। राजू श्रीवास्तव, सुनील पाल और अहसान कुरैशी का लाइव शो देखने के लिए आज भी लोगों की भी़ड उम़डेगी। अभी इन हास्य कलाकारों का दौर खत्म नहीं हुआ है।उन्होंने कहा, देश में हास्य कवि सम्मेलन आज भी मशहूर हैं। लेकिन स्टैंड-अप कॉमेडी के कारण लोगों के पास हंसने-खिलखिलाने का नया विकल्प आ गया है। सुब्रमणियन एक निजी कंपनी की नौकरी छो़डकर स्टैंड-अप कॉमेडी के क्षेत्र में उतरे थे। इंटरनेट पर उनके कई हास्य वीडियो मौजूद हैं जिन्हें लाखों बार देखा जा चुका है। उन्होंने कहा, नए कलाकार सामने आ रहे हैं जो इस विधा के लिए बेहद अच्छी बात है। हिन्दी मिश्रित अंग्रेजी में प्रस्तुति देने वाले कलाकार ने कहा, ‘बदलते वक्त के साथ स्टैंड-अप कॉमेडी के दर्शक लगाातार परिपक्व हो रहे हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY