मुंबई। ऋचा चड्ढा को फिल्म सरबजीत में काम करने का पछतावा है। ऋचा ने फिल्म सरबजीत के बारे में कहा कि इस फिल्म के लिए उन्हें ऐसा लगता है कि वह मिसयूज हुई हैं। उन्होंने कहा, मुझे इस फिल्म को चुनने का पछतावा है। फिल्म गोलियों की रासलीला रामलीला में काम करना अच्छा अनुभव रहा। फिल्म में मेरा रोल महत्वपूर्ण था। फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर में २४ साल की उम्र में मां का किरदार निभाना रिस्की था। ऋचा फिल्म मसान को अपने दिल के सबसे करीब मानती हैं। ऋचा ने कहा, मैं खुद को भाग्यशाली मानती हूं कि मुझे इस फिल्म में काम करने का मौका मिला, साल २०१२ में मैंने अपना करियर शुरू किया था और साल २०१५ में मेरी फिल्म को कान्स फिल्म फेस्टिवल में २ अवॉर्ड मिल रहे थे। मेरी कोशिश रहती है कि मैं एक एक्टर के रूप में कहानी में प्रभाव डाल पाऊं। हम सभी को एक ्क्रिरप्ट मिलती है जिसके हिसाब से हमें परफॉर्म करना होता है। फर्क इस बात का प़डता है कि हमने किस तरह से और कितने एफर्ट किये हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY