नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जोर देकर कहा कहा कि भ्रष्टाचार एवं कालेधन के खिलाफ ल़डाई भारत के युवाओं के भविष्य की ल़डाई है और यह ल़डाई नहीं रुकेगी, भ्रष्टाचार में लिप्त कोई भी व्यक्त अब बच नहीं पाएगा। एनसीसी के एक समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि एक समय था जब भ्रष्टाचार की चर्चा होती थी और लोग मानते थे कि ब़डे-ब़डे लोगों का कुछ नहीं होता है लेकिन अब चीजें बदल गई हैं। आज भ्रष्टाचार के कारण तीन पूर्व मुख्यमंत्री जेल में हैं। उन्होंने कहा कि आज देश का नौजवान भ्रष्टाचार को बर्दाश्त करने को तैयार नहीं है। भ्रष्टाचार के प्रति नफरत का भाव समाज में पैदा हो गया है। मोदी ने कहा कि लेकिन सिर्फ भ्रष्टाचार से नफरत करने, रोष प्रकट करने से काम नहीं चलेगा। फिर तो ल़डाई लम्बी चलानी प़डेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह ल़डाई रुकने वाली नहीं है। भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ ल़डाई देश के नौजवानों के भविष्य के लिए है। भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ ल़डाई नहीं रुकेगी। उन्होंने कहा कि वह देश के नौजवानों, एनसीसी कैडेटों से कुछ मांगना चाहते हैं और उन्हें उम्मीद है कि वे उन्हें निराश नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि वह न तो वोट मांग रहे हैं और न ही राजनीतिक मंच से कुछ कह रहे हैं। मैं आपसे भारत को भ्रष्टाचार रूपी दीमक से मुक्ति दिलाने की अपील कर रहा हूं। मोदी ने कहा कि वह अपील कर रहे हैं कि जवाबदेही और पारदर्शिता से जु़डी डिजिटल लेनदेन की पहल से १०० नए परिवारों को जो़डें। प्रधानमंत्री ने एनसीसी कैडेटों समेत युवाओं से अपने मोबाइल पर भीम एप डाउनलोड करने और डिजिटल लेनदेन करने की अपील की। उन्होंने इस संबंध में पादर्शिता लाने में आधार की भूमिका का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सामाजिक एकता, सद्भाव,बदलाव और विकास में महिलाओं की भूमिका को महत्वपूर्ण बताते हुए रविवार को कहा कि भारतीय संस्कृति में नारी शक्ति को पुरातन समय से ही स्वीकार किया गया है और एक बेटी को दस बेटों के बराबर बताया गया है। प्रधानमंत्री ने वर्ष २०१८ में आकाशवाणी पर अपने पहले रेडियो कार्यक्रम ’’मन की बात’’ में देश को संबोधित करते हुए सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रम ’’बेटी बचाओ बेटी प़ढाओ’’ का उल्लेख किया और कहा कि भारतीय संस्कृति में नारी शक्ति ने पुरातन समय से ही अग्रणी भूमिका निभाई है। सोमवार से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को सभी राजनीतिक दलों को बजट सत्र को सार्थक बनाने के लिए रचनात्मक माहौल बनाने की अपील की। ंसदीय कार्यमंत्री अनंतकुमार ने लगभग सवा दो घंटे तक चली बैठक के बाद बताया कि बैठक में सद्भावपूर्ण माहौल में विचार विमर्श किया गया। उन्होंने कहा कि बैठक में मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट सत्र को अत्यधिक महत्वपूर्ण बताया है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि सरकार विपक्ष के सुझावों को गंभीरता से लेगी। कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जोर दिया कि सभी राजनीतिक दलों को बजट सत्र को सार्थक बनाने के लिए रचनात्मक माहौल बनाना चाहिए।

LEAVE A REPLY