earthquake and tsunami in indonesia
earthquake and tsunami in indonesia

जकार्ता। इंडोनेशिया में भूकंप के बाद सुनामी से अब तक कम से कम 832 लोगों की मौत हो गई। वहीं सैकड़ों लोग लापता बताए जा रहे हैं। उनके परिजन और बचाव एवं राहतकर्मी तलाश में जुटे हैं। यह भूकंप 28 सितंबर को सुलावेसी द्वीप में आया था जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.5 मापी गई थी। भूकंप के जोरदार झटकों के बाद समुद्र में कई फीट ऊंची लहरें उठने लगीं जिनसे खासा नुकसान हुआ।

पूरे इंडोनेशिया में भूकंप के ये झटके महसूस किए गए। अब तक कई इमारतों के धराशायी होने के समाचार हैं। अपनी आंखों के सामने उजड़ा हुआ आशियाना देख लोगों पर दुखों का पहाड़ टूट गया। भूकंप के बाद मची तबाही के कारण हजारों लोगों को खुले में रात बितानी पड़ी और जनजीवन बुरी तर​ह प्रभावित हुआ।

इंडोनेशिया में कई मकानों में दरारें आ गईं जिसके बाद लोग आशंकित हैं। द गार्जियन की एक रिपोर्ट कहती है कि इस आपदा के कारण मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है। अभी बचाव कार्य जारी है और लोग सुरक्षित स्थानों पर शरण ले रहे हैं। समुद्री हलचल के कारण कई घरों में पानी घुस गया जिससे दैनिक उपयोग की वस्तुएं खराब हो गईं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, समुद्र की लहरें इतनी ताकतवर थीं कि इससे तटीय शहर पालू के सैकड़ों घरों को नुकसान हुआ है। सुनामी के समय कई विदेशी पर्यटक समुद्र किनारे आए हुए थे, उनमें से कुछ लापता बताए जा रहे हैं। भूकंप और सुनामी के कारण यहां हालात इतने बिगड़ गए हैं कि बचाव एवं राहत कार्य में जुटी एजेंसियों को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। देश के कई स्थानों पर बिजली-पानी की आपूर्ति व्यवस्था बिगड़ गई है। लोग इलाज के लिए अस्पतालों में उमड़ रहे हैं।

ये भी पढ़िए:
– उप्र: नशे में धुत्त जीआरपी सिपाहियों ने ट्रेन में खिलाड़ियों को बुरी तरह​ पीटा, जेल में किया बंद
– ‘मन की बात’ में पाक को मोदी की दो टूक- ‘शांति भंग करने वालों को मिलेगा मुंहतोड़ जवाब’
– स्वामी का दावा: रूस में स्टालिन ने कराई नेताजी सुभाष की हत्या, नेहरू को सब पता था
– अब संभलकर जाएं दुबई, पहनावे का यह कानून भेज सकता है कई साल के लिए जेल

LEAVE A REPLY