सएक्स का हेवीवेट फॉल्कन रॉकेट अपनी पहली टेस्ट लॉन्चिंग के लिए तैयार है। यह अबतक का सबसे शक्तिशाली रॉकेट बताया जा रहा है। इसके अंदर तीन बूस्टर्स और २७ इंजन लगें हैं जिसकी मदद से इसे पांच मिलियन पाउंड की शक्ति मिलेगी। इस रॉकेट को फ्लॉरिडा से लॉन्च किया जाना है।इस मौके को और मजेदार बनाने के लिए स्पेसएक्स के फाउंडर इलान मस्क अपनी स्पोर्ट्स कार रोडस्टर को भी रॉकेट में रखकर स्पेस में भेज रहे हैं। यह गा़डी उनकी कंपनी टेस्ला की ही है। गा़डी के साथ तीन कैमरे भी लगाए गए हैं ताकि वे अंतरिक्ष के सुंदर चित्रों को कैद कर सकें। बता दें कि यह टेस्ट मिशन है और ऐसे में कीमती चीजों को रॉकेट में रखकर आसमान में नहीं भेजा जाता। इसकी जगह स्टील, कंक्रीट आदि रखकर भेजा जाता है, लेकिन मस्क कीमती कार रखकर भेज रहे हैं। क्यों खास है मिशन यह रॉकेट सेटरन ५ के बाद सबसे ज्यादा लोड लेकर जाने वाला रॉकेट होगा। ऐसा पहली बार है कि किसी प्राइवेट कंपनी ने बिना किसी सरकारी मदद के इतना ब़डा रॉकेट बना दिया। अगर यह सफल रहा तो आने वाले वक्त में स्पेसएक्स एयरफोर्स की सेटलाइट्स को अंतरिक्ष तक पहुंचाने में मदद कर सकता है जो कि फॉल्कन ९ के लिए भारी होती हैं। इतना ही नहीं इससे नासा को भी मदद मिल सकती है। पहले लोगों को लग रहा था कि कार मंगल के ऑर्बिट में जाएगी, लेकिन बाद में साफ हुआ कि ऐसा होने का चांस कम है। कार लाखों सालों तक अंतरिक्ष में अगर सही सलामत रही तो कभी न कभी मंगल के पास से गुजर सकती है। मस्क ने बताया था कि इसके बेहद कम चांस हैं कि कार मंगल तक पहुंच पाए। वहीं अगर टेस्ट फेल हो गया और रॉकेट किसी वजह से लॉन्चपैड पर ही फट गया तो लॉन्चपैड को रिपेयर करने में ही एक साल लग जाएगा।

LEAVE A REPLY