मुंगेर। करीब 31 घंटे से बोरवेल में फंसी तीन साल की बच्ची सना को बाहर निकाल लिया गया है। वह पूरी तरह सुरक्षित है। करीब 110 फीट गहरे बोरवेल में गिरने के बाद बुधवार रात को उसे बाहर निकाला गया। इस दौरान पूरे देश में उसके लिए दुआएं हो रही थीं। इस बचाव अभियान को एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और सेना ने संयुक्त रूप से अंजाम दिया था।

बोरवेल से बाहर निकालने के बाद सना को मुंगेर के सिविल अस्पताल ले जाया गया है। बचाव अभियान के दौरान उस वक्त सबकी चिंता बढ़ गई जब बच्ची का पैर फंस गया था। हालांकि बचाव दल ने अपनी सूझबूझ का परिचय देते हुए बच्ची को बाहर निकाल ही लिया।

इधर सना को बोरवेल से निकालने की कोशिश हो रही थी, उधर देश में काफी जगह उसकी सलामती के लिए दुआ हो रही थी। बचाव दल दृढ़ता से अपने मिशन को अंजाम देने में जुटा था और कामयाब हो गया। इसके बाद लोगों ने दल को धन्यवाद कहा है। जानकारी के अनुसार, बच्ची को बचाने के लिए बचाव दल को गहरी सुरंग खोदनी पड़ी।

उन्होंने बच्ची का हौसला बढ़ाए रखा। उसके करीब जाने के बाद उन्होंने पानी और चॉकलेट भी दिया। खुदाई के दौरान सना की आंखों को मिट्टी से बचाने के लिए चश्मा दिया। मौके पर ही एंबुलेंस और चिकित्सा दल मौजूद था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पूरे घटनाक्रम पर नजर थी। आखिरकार बचाव दल ने उसे 45 फीट की गहराई से सकुशल निकाल लिया। बच्ची को सुरक्षित निकाले जाने के कारण वहां काफी खुशी का माहौल था।

ये भी पढ़ें:
– विधायक के विवादित बोल- ‘अनुच्छेद 370 हटा तो कश्मीर में नहीं रहेगा तिरंगे का नामोनिशान’
– क्या मुलायम के खास रहे अमर सिंह आज़मगढ़ से लड़ेंगे उनके खिलाफ चुनाव?
– क्या नागरिक रजिस्टर पर ममता के ‘गृहयुद्ध’ वाले बयान से कांग्रेस को हो सकता है नुकसान?

Facebook Comments

LEAVE A REPLY