बेंगलूरु/दक्षिण भारत राज्य में सत्तासीन कांग्रेस और जनता दल (एस) गठबंधन ने कर्नाटक विधान परिषद की छह में से तीन सीटों पर अपना कब्जा बना लिया है। शिक्षक और स्नातक क्षेत्र की इन सीटों पर ८ जून को द्विवार्षिक चुनाव हुए थे। इस चुनाव में अकेली भाजपा ने तीन अन्य सीटों पर जीत हासिल की है। बुधवार को इस चुनाव के नतीजे घोषित हुए्। इसमें कांग्रेस को सिर्फ एक सीट मिली, जबकि जनता दल (एस) ने दो और भाजपा ने तीन सीटों पर जीत दर्ज की। विधान परिषद चुनाव जीतने वालों में दक्षिण पूर्वी शिक्षक सीट पर भाजपा के डॉ. वाईए नारायणस्वामी, दक्षिण पश्चिम शिक्षक सीट पर भाजपा के आयनूरु मंजुनाथ और बेंगलूरु स्नातक क्षेत्र से भाजपा के डी देवेगौ़डा शामिल रहे। वहीं, जनता दल (एस) के एसएल भोजेगौ़डा ने दक्षिण पश्चिम शिक्षक सीट और मरितिब्बे गौ़डा ने दक्षिणी शिक्षक सीट पर कब्जा बनाया। वहीं, कांग्रेस के उत्तर पूर्व स्नातक सीट प्रत्याशी डॉ. चंद्रशेखर पाटिल पार्टी के एकमात्र विजेता प्रत्याशी रहे। चुनाव में जनता दल (एस) प्रत्याशी रमेश बाबू को भाजपा के डॉ. नारायणस्वामी ने झटका दिया है। उन्होंने रमेश बाबू को दक्षिण पूर्वी शिक्षक क्षेत्र की सीट पर १८७२ मतों से पराजित कर दिया। वहीं, कांग्रेस के प्रत्याशी एम रामप्पा इस सीट के लिए किस्मत आजमाने वाले १४ प्रत्याशियों में मात्र १९४३ मतों के साथ तीसरा स्थान प्राप्त किया। दक्षिणी शिक्षक क्षेत्र से जनता दल (एस) के प्रत्याशी मरितिब्बे गौ़डा अपनी सीट बरकरार रखने में सफल रहे। उन्होंने कांग्रेस के एम लक्ष्मणा को ४२१७ मतों से शिकस्त दे दी। वहीं, भाजपा के लिए भी चुनाव के नतीजों में एक झटका आया। इसके प्रत्याशी कैप्टन गणेश कार्णिक को दक्षिण पश्चिम शिक्षक सीट पर जनता दल (एस) के प्रत्याशी भोजेगौ़डा ने २८८५ मतों से पटकनी दे दी। बहरहाल, पूर्व भाजपा सांसद आयनूरु मंजुनाथ ने दक्षिण पश्चिम स्नातक सीट पर अपनी जीत पक्की कर पार्टी को कुछ राहत पहुंचाई। उन्होंने इस सीट पर कांग्रेस के एसपी दिनेश को ९००० मतों के फासले से हरा दिया। कांग्रेस को सांत्वना जीत के रूप में उत्तर पूर्वी स्नातक क्षेत्र से डॉ. चंद्रशेखर पाटिल की सफलता मिली। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी केबी श्रीनिवास पर नाममात्र के ३२१ मतों से जीत दर्ज की। वहीं, भाजपा के प्रत्याशी ए देवेगौ़डा ने बेंगलूरु स्नातक सीट पर कांग्रेस के रामोजी गौ़डा को ४८०० मतों से हराकर इसकी कसर पूरी कर दी।

LEAVE A REPLY