चेन्नई। केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री राजन गोहन ने मंगलवार को कन्याकुमारी-नागरकोइल-तिरुवनंतपुरम खंड पर रेल मार्ग दोहरीकरण और विद्युतीकरण की परियोजनाओं की आधारशिला रखी। इस परियोजना को ३६१८ करो़ड रुपए की लागत से पूरा किया जाएगा। मंगलवार को नागरकोइल जंक्शन रेलवे स्टेशन पर आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने ३४९ किलोमीटर लंबे रेल मार्ग दोहरीकरण और विद्युतीकरण की परियोजना के साथ ही तीन ढांचागत परियोजनाओं की आधारशिलाएं भी रखी। रेल राज्य मंत्री ने इस अवसर पर नागरकोइल रेलवे स्टेशन पर इस्केलेटर सुविधा, वाई-फाई सेवाएं और स्टेशन परिसर में सभी स्थानों पर एलईडी लाइटों की सुविधा का शुभारंभ किया।कार्यक्रम में केन्द्रीय वित्त एवं जहाजरानी राज्य मंत्री पोन राधाकृष्णन, राज्य के सूचना एवं प्रचार मंत्री कादम्बूर राजू, सांसद ए विजयकुमार, सांसद जेजी प्रिंस, विधायक एन सुरेश राजन, विधायक एस ऑस्टिन और विधायक एच वसंता कुमार भी उपस्थित थे। दक्षिण रेलवे के महाप्रबंधक आरके कुलश्रेष्ठ ने सभी उपस्थित अतिथियों को संबोधित करते हुए उनका स्वागत किया। त्रिवेन्द्रम के मंडल रेल प्रबंधक प्रकाश भूटानी, मदुरै की मंडल रेल प्रबंधक श्रीमती नीनूइट्टयेराह तथा दक्षिण रेलवे के अन्य अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन ने कन्याकुमारी-तिरुवनंतपुरम के पूरे रेल खंड के लिए ४००० करो़ड की परियोजना को अनुमति देने पर प्रसन्नता जाहिर की। उन्होंने कहा कि वह इसके लिए प्रधानमंत्री और केन्द्रीय रेल मंत्री को धन्यवाद देते हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार और राज्य सरकार के संयुक्त प्रयासों से कन्याकुमारी क्षेत्र में एक क्रांतिकारी बदलाव आएगा।केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री राजन गोहेन ने कहा कि भारतीय रेल द्वारा लगातार यात्री सुविधाओं का विस्तार करने पर ध्यान दिया जा रहा है। अब रेलवे की ओर से यात्री आधारित अधिक सुविधाएं लागू की जा रही है। उन्होंने दक्षिण रेलवे द्वारा सभी स्टेशनों पर पूर्णतया एलईडी लाइट लगवाने और रेल यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए लेवल क्रासिंगों को हटाने की दिशा में किए जा रहे कार्यों की सराहना की। रेल राज्य मंत्री ने कहा कि वित्तीय वर्ष २०१७-१८ के लिए केन्द्रीय बजट में रेल संबंधित परियोजनाओं के मद में तमिलनाडु के लिए २२२८७ करो़ड रुपए आवंटित किए गए थे जोकि वर्ष २००९-१० और २०१६-१७ की तुलना में १६० प्रतिशत अधिक है। इसके साथ ही जहां वर्ष २०१६-१७ में यात्री सुविधाओं के लिए ३३ करो़ड रुपए की राशि आवंटित की गई थाी वहीं वर्ष २०१७-१८ के लिए इस मद में ३८ करो़ड रुपए की राशि आवंटित की गई थी। राजन गोहेन ने कहा कि वह स्वामी विवेकानंद के पदचिन्हों को देखने वाले रामेश्वरम शहर में आकर काफी प्रसन्नता महसूस कर रहे हैं। इस अवसर पर मंत्री ने और अधिक रेल सेवाओं और इस क्षेत्र में रेल से संबंधी ढांचागत सुविधाओं का विकास करने की मांग कर रहे यात्री संघों से उनके प्रतिवेदन भी स्वीकार किए। उन्होंने यात्री संघों को उनके द्वारा की जा रही मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY