Medicines
Medicines

यह दवा स्कूल की ओर से बच्चों को बांटी गई थी। इसे खाने के बाद बच्चों के पेट में दर्द होने लगा और वे उल्टी करने लगे। एक छात्रा की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई और उसकी मौत हो गई। एकसाथ इतनी संख्या में बच्चों की तबीयत बिगड़ने पर यह आशंका जताई जा रही है कि संभवत: दवा अवधिपार होगी।

मुंबई। यहां शिवाजी नगर के एक सरकारी स्कूल में बच्चों को बांटी गई दवा लेने के बाद एक छात्रा की मौत हो गई। वहीं 247 छात्रों की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज जारी है। जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को बच्चों को यह दवा बांटी गई। इसे खाने के बाद काफी बच्चों ने शिकायत की कि उनकी तबीयत खराब हो रही है।

इसके बाद एक छात्रा ने दम तोड़ दिया। स्थिति की गंभीरता देख बच्चों को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से 211 बच्चे यहां के रजवाड़ी अस्पताल में भर्ती हैं। इसके अलावा 36 बच्चे शताब्दी अस्पताल में भर्ती हैं। इनके परिजनों को बच्चों की सेहत की चिंता सता रही है।

विभिन्न रिपोर्टों में कहा गया है कि यह दवा स्कूल की ओर से बच्चों को बांटी गई थी। इसे पेट के कीड़े मारने की दवा बताया जा रहा है। इसे खाने के बाद बच्चों के पेट में दर्द होने लगा और वे उल्टी करने लगे। एक छात्रा की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई और उसकी मौत हो गई। एकसाथ इतनी संख्या में बच्चों की तबीयत बिगड़ने पर यह आशंका जताई जा रही है कि संभवत: दवा अवधिपार होगी, जिसका सेवन करने के बाद यकायक बच्चे उल्टियां करने लगे।

पुलिस ने कहा है कि इस संबंध में जांच की जा रही है। दवाइयां जब्त कर ली गई हैं। इसके बाद ही घटना की असल वजह सामने आएगी।

ये भी पढ़िए:
केजरीवाल ने दिया विपक्ष को झटका, मोदी के खिलाफ महागठबंधन में नहीं होंगे शामिल
आतंकियों से लड़ते शहीद हुआ इकलौता बेटा, पिता बोले- ‘गर्व है कि देश के काम आया’
युवती ने तकनीकी सूझबूझ से एक दिन में ढूंढ़ा स्मार्टफोन, चोर को किया पुलिस के हवाले

Facebook Comments

LEAVE A REPLY