जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा है कि अहंकारी व्यक्ति ज्यादा दिन पद पर नहीं रहता, हमें लोगों की सेवा का मौ़का मिला है। हम सभी मिलकर प्रदेश के लोगों की िं़जदगी बदल सकते हैं। मुझे मालूम है प्रदेश चलाना कितना मुश्किल काम है, और यह अकेले नहीं मिलकर ही पूरा हो सकता है। मुख्यमंत्री वसुंधरा ने यह बात गुरुवार को राजधानी जयपुर स्थित शासन सचिवालय में कर्मचारी संघ की कार्यकारिणी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में कही। वसुन्धरा राजे ने अपने संबोधन में प्रदेशभर के कार्मिकों को जनता की सेवा के लिए थिंक बिग, वर्क बिग एंड हैल्प बिग का मूलमंत्र दिया।उन्होंने कहा कि प्रदेश के कर्मचारियों को जनता की सेवा का विशेष अवसर मिला है। इसलिए वे पूरी निष्ठा और सद्भाव के साथ काम करते हुए आमजन की तकलीफों को दूर करने की हर सम्भव कोशिश करें। उन्होंने कहा कि सचिवालय में प्रदेश के किसी भी कोने से कोई व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आए तो वह यहां से चेहरे पर मुस्कान लेकर जाए।·र्ैंज्श्च ·र्ष्ठैं द्धय्प्ज्रूख्र फ्य्त्रप्य्ैं प्ष्ठत्रद्मद्बय्द्म ध्य्ख्रू ्य·र्ैंद्भय्मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के कई राज्यों में अभी तक ७वें वेतनमान का लाभ नहीं दिया गया है, लेकिन ढाई लाख करो़ड से भी अधिक के कर्जे के बावजूद राज्य में ७वां वेतनमान लागू किया गया। इसके साथ ही डीपीसी के लिए अनुभव में शिथिलता, दो वर्ष की चाइल्ड केयर लीव, स्वास्थ्य बीमा की राशि में ब़ढोतरी, सचिवालय में क्रेच तथा तीसरी संतान सम्बंधी नियमों में शिथिलता सहित कई निर्णय कर्मचारियों के हित में लिए।

LEAVE A REPLY