अहमदाबाद। इन दिनों भारत के दौरे पर आए प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अपनी सादगी से गुजरात के लोगों का दिल जीत लिया। अपने इस दौरे पर जहां ट्रूडो पारंपरिक भारतीय परिधान में नजर आए वहीं एक प्रधानमंत्री होने के बावजूद उनके काफिले के लिए यातायात को बाधित नहीं करना और उनकी ओर से कोई विशेष मांग नहीं रखने पर गुजरात के लोग उनसे काफी प्रसन्न हैं। ट्रूडो के आगमन पर उनका स्वागत करने के लिए सड़कों पर बड़े-बड़े पोस्टर लगाए गए थे। हालांकि इतने महत्वपूर्ण अतिथि के शहर में होने के बावजूद लोगों को यातायात व्यवस्था में कोई परिवर्तन नहीं दिखा और इससे लोगों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई जिससे भी लोग काफी खुश हैं।
ट्रूडो परिवार न केवल यातायात या सुरक्षा के लिहाज से बल्कि खाने-पीने के मामले में भी बेहद सहज रहा। उनका पूरा परिवार आश्रम रोड के होटल में रुका था और उन्होंने कोई विशेष मांग भी नहीं की। ट्रूडो परिवार ने सादी ब्रेड, सैंडविच, ऑरेंज जूस के साथ फ्रेंच फ्राई का आनंद लिया। उन्हें मीट और पास्ता विशेष रूप से पसंद है लेकिन उन्होंने इस प्रकार के भोजन की मांग नहीं की। ट्रूडो और उनके परिवार ने मसालेदार होने के कारण गुजराती खाने से परहेज किया। हालांकि उनके तीन खूबसूरत बच्चों के लिए पिज्जा मंगाया गया था।
आमतौर पर जब विशिष्ट अतिथि अहमदबाद आते हैं नागरिकों को यातायात जाम होने की समस्या से दोचार होना पड़ता है। विशिष्ट अतिथियों के लिए घंटों ट्रैफिक रोक दिया जाता है मगर कनाडा के पीएम के लिए ट्रैफिक बस उनके काफिले के गुजरने तक बाधित हुआ और फिर लोगों के लिए खोल दिया गया। स्थानीय लोगों का कहना है कि चाहे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का आगमन हो या इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू का दौरा शहरवासियों को यातायात जाम होने की समस्या से जूझना पड़ा लेकिन ट्रूडो के आगमन पर बिल्कुल ही ऐसा नहीं हुआ। पिछले कई वर्षों में नागरिकों ने पहली बार यह महसूस किया कि इतना बड़ा कोई राजनयिक शहर में है और उन्हें कोई पता नहीं चला।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY