नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता रेणुका चौधरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तंज ने परेशान कर दिया था। उन्होंने प्रधानमंत्री पर तीखा हमला करते हुए कहा, ’’आप उनसे और क्या उम्मीद कर सकते हैं? मैं उन्हें जवाब देने के लिए उस स्तर तक नहीं गिर सकती हूं्। वास्तव में इसी को महिलाओं की गरिमा नीचे गिराना कहते हैं।’’ उनके इस बयान से एक अन्य महिला और सामाजिक कार्यकर्ता मधु किश्वर सहमत नहीं हैं। उन्होंने पलटकर रेणुका को नसीहत दे डाली कि ’’अगर शाही नजाकत वाला ट्रीटमेंट चाहिए तो व्यवहार भी वैसा रखिए!’’ बता दें कि बुधवार (७ फरवरी) को प्रधानमंत्री जब राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब दे रहे थे तो किसी बात पर कांग्रेस की नेता रेणुका चौधरी जोर से हंसीं। सभापति एम वेंकैया नायडू ने रेणुका के हंसने पर उन्हें ऐसा नहीं करने के लिए टोका लेकिन प्रधानमंत्री ने कहा, ’’रेणुका जी को कुछ मत कहिए क्योंकि रामायण धारावाहिक समाप्त होने के बाद पहली बार ऐसी हंसी सुनाई दी है।’’ मोदी की इस टिप्पणी पर लगातार प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। सोशल एक्टिविस्ट मधु पूर्णिमा किश्वर ने भी इस मुद्दे पर अपनी राय रख दी है। उन्होंने रेणुका चौधरी के एक बयान पर टिप्पणी देते हुए कहा है कि जब आप किसी से रॉयल ट्रीटमेंट की उम्मीद करती हैं तो आपको भी गंवारों की तरह व्यवहार नहीं करना चाहिए। मधु किश्वर ने गुरुवार को ट्वीट किया, ’’ओह डियर, बहुत मजेदार, अब आप महिला विक्टिम कार्ड खेल रही हैं! वह सभी महिलाएं जो संसद में शाही नजाकत के साथ ट्रीट होना चाहती हैं, अच्छा होगा कि वे सभी उसी तरह व्यवहार करना भी सीखें। आप उम्मीद करें कि आपके साथ सम्मान के साथ पेश आया जाए तो आप एक गंवार, मंद बुद्धि जैसा बिहेव नहीं करती हैं।एक अन्य ट्वीट में मधु किश्वर ने सलाह दी, ’’रेणुका जी, अच्छा होगा आप लोगों को आपके पारिवारिक और निजी जिंदगी के बारे में ग़डे मुर्दे उखा़डने के लिए मजबूर नहीं करें। सोशल मीडिया नहीं माफ करने वाला भी हो सकता है।’’

Facebook Comments

LEAVE A REPLY