नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा मानहानि के एक मामले में पंजाब के पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से लिखित में माफी मांगने के मुद्दे पर आम आदमी पार्टी (आप) में अंदरूनी कलह तेज हो गई है। एक तरफ पार्टी की पंजाब इकाई के अध्यक्ष भगवंत सिंह मान ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया वहीं पहले से नाराज चल रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास भी केजरीवाल के माफीनामे पर तंज कसने से नहीं चूके। केजरीवाल द्वारा मजीठिया से कल माफी मांगने के बाद संगरूर से पार्टी के लोकसभा सदस्य मान ने आज पार्टी प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान केजरीवाल ने चुनाव प्रचार में मजीठिया पर नशे के कारोबार में शामिल होने का आरोप लगाया था। इस पर मजीठिया ने केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर कर दिया। केजरीवाल के माफीनामे से नाराज होकर मान ने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। मान ने ट्वीट कर कहा मैं आप की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं, लेकिन पंजाब में ड्रग माफिया और अन्य प्रकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ पंजाब के आम आदमी’’ की तरह मेरी ल़डाई जारी रहेगी।इस बीच पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने भी इस मामले में केजरीवाल के रुख पर कोई सीधी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा मुझे नहीं मालूम कि केजरीवाल ने क्यों माफी मांगी। मैं मजीठिया के बारे में दिये गये अपने कल के बयान पर कायम हूं।सिंह ने पंजाब में नशीले दवाओं के अवैध करोबार के मामले विशेष कार्य बल (एसटीएफ) की कल एक रिपोर्ट के हवाले से कहा मेरा मानना है कि बिक्रम मजीठिया को माफी नहीं मिलनी चाहिए। मजीठिया ने ड्रग्स का धंधा करके पंजाब की जवानी को बर्बाद किया है।सिंह ट्वीट कर कहा एसटीएफ की रिपोर्ट में हुए ख़ुलासे के आधार पर मजीठिया की तत्काल गिऱफ्तारी होनी चाहिये।

LEAVE A REPLY