तिरुनेलवेली/दक्षिण भारत केन्द्रीय नौवहन, राष्ट्रीय राजमार्ग एवं जहाजरानी राज्य मंत्री पोन राधाकृष्णन ने यहां गुरुवार को कहा कि जहां शिपिंग उद्योग में वैश्विक स्तर पर गिरावट देखी जा रही है वहीं देश में इस उद्योग में सकारात्मक वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा दुनिया भर में शिपिंग क्षेत्र में गिरावट के बावजूद देश में इस उद्योग में सकारात्मक वृद्धि का श्रेय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को जाना चाहिए। उन्होंने यहां राज्य के विभिन प्रमुख बंदरगाहों द्वारा एक कार्यक्रम के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री ने सागरमाला जैसे दूरदर्शी योजनाओं के माध्यम से प्रमुख बंदरगाहों की मौजूदा क्षमता को १०५४ एमटीपीए से बढाकर ३००० एमटीपीए करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई वाली केन्द्र सरकार ने समाज के सभी वर्गों के लाभ के लिए विभिन्न योजनाएं शुरु की। उन्होंने दावा किया कि केन्द्र सरकार की द्वारा शुरु की गई उज्ज्वला योजना, जन धन योजना और कौशल विकास जैसी योजनाओं के कारण देश का समग्र विकास हुआ है।वीओ चिदंबरनार पोर्ट ट्रस्ट के प्रदर्शन की प्रशंसा करते हुए मंत्री ने कहा, पोर्ट लगातार माल ढुलाई की अपनी क्षमता में बढोत्तरी कर रहा है। उन्होंने बताया कि वीओ चिदंबरनार पोर्ट ने वर्ष २०१६-१७ के दौरान ३८.४६ एमटीपीए माल की ढुलाई की है। पिछले वर्ष इस बंदरगाह से ३६.८४ एमटीपीए माल की ढुलाई हुई थी। एनयाम बंदरगाह परियोजना के बारे में राधाकृष्णन ने कहा कि जब यह परियोजना पूरी होगी तो तमिलनाडु चार प्रमुख बंदरगाहों वाला पहला राज्य होने का गौरव प्राप्त करेगा। उन्होंने बताया कि कितनी तेजी के साथ उनके मंत्रालय ने स़डकों का निर्माण करने की दिशा मंे कदम उठाया है। उन्होंने बताया कि राज्य में विभिन्न बुनियादी ढांचागत परियोजनाओं को लागू करने के लिए ५०,००० करो़ड रुपए आवंटित किए गए हैं। इस अवसर पर वीओ चिदंबरनार पोर्ट ट्रस्ट,के चेयरमैन एस अनंत चंद्र बोस ने कहा, पिछले तीन वर्षों के दौरान पोर्ट को कई पुरस्कार प्राप्त हुए हैं जिनमें आरएफडी लक्ष्य हासिल करने के लिए पुरस्कार और क्षमता में वृद्धि के लिए विशेष पुरस्कार शामिल हैं। इस कार्यक्रम के दौरान केन्द्रीय मंत्री ने किसानों के बीच कृषि ऋण और छात्रों के बीच नकद प्रोत्साहन राशि का वितरण भी किया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY