अहमदाबाद। वर्ष २००२ के गुलबर्ग सोसाइटी नरसंहार मामले में करीब १६ साल से फरार एक आरोपी को बुधवार को यहां गिरफ्तार कर लिया गया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मामले के फरार आरोपियों में शामिल आशीष पांडे को अपराध शाखा के अधिकारियों ने शहर के असलाली इलाके से गिरफ्तार किया। गौरतलब है कि एक भी़ड ने यहां २८ फरवरी २००२ को मुस्लिम बहुल कॉलोनी गुलबर्ग सोसाइटी में हमला किया था, जिसमें कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी सहित ६९ लोग मारे गए थे। यह घटना गोधरा बाद के दंगों के दौरान हुई सबसे भीषण हिंसा में एक थी।पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना के बाद वर्ष २००२ में दर्ज की गई प्राथमिकी में नामजद किए जाने के बाद से पांडे फरार था। वह अपने परिवार के साथ नरोदा इलाके में रहता था लेकिन वह गिरफ्तारी से बचने के लिए भाग गया और इसके बाद हरिद्वार और वापी सहित विभिन्न शहरों में रहा तथा परिवहन के धंधे से जु़डा रहा। उन्होंने बताया कि पुलिस को इस बारे में गुप्त सूचना मिली थी कि पांडे अपने काम के सिलसिले में शहर में है। उसे विशेष जांच टीम (एसआईटी) को सौंप दिया गया है जो इस मामले की जांच कर रही है। उसे कल एक अदालत में पेश किया जाएगा। एसआईटी के लिए एक विशेष अदालत ने गुलबर्ग मामले में जून २०१६ में २४ लोगों को दोषी ठहराया था और उनमें से ११ को उम्र कैद की सजा सुनाई थी। वहीं, ३६ अन्य को बरी कर दिया था। पांडे की गिरफ्तारी के बाद अब भी चार और आरोपी फरार हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY