चेन्नई। केन्द्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने गुरुवार को केन्द्र सरकार की ओर से चम़डा और फुटवियर उद्योग के लिए २,६०० करो़ड रुपए के विशेष पैकेज की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस विशेष पैकेज से लगभग तीन लाख रोजगार पैदा होंगे और अगले तीन वर्षों मेंे दो लाख अन्य रोजगारों का भी सृजन होगा। उन्हांेंने कहा कि कुल मिलाकर ५ लाख नए रोजगारों के सृजन होने की संभावना है। केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने यहां गुरुवार को ३३ वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय लेदर फेयर (आईआईएलएफ) का शुभारंभ करने के बाद यह बात कही।केन्द्रीय मंत्रालय ने गत महीने चम़डा और फुटवियर उद्योग में नए रोजगार के मौके पैदा करने के लिए इस विशेष पैकंेज की मंजूरी दी थी। सरकार ने वर्ष २०१७-१८ से वर्ष २०१९-२० तक तीन वित्तीय वर्षों के दौरान २६०० करो़ड रुपए खर्च करने का निर्णय लिया है। चम़डा उद्योग के लिए केन्द्र सरकार की प्रतिबद्धता जाहिर करते हुए सुरेश प्रभु ने कहा कि सरकार चम़डा उद्योग और इससे जु़डी वस्तुओं के उत्पादन के लिए मेगा क्लस्टर स्थापित करेगी और इसके लिए समुचित ढांचागत सुविधाएं उपलब्ध कराएगी।प्रभु ने तमिलनाडु के चम़डा उद्योगों के लिए सामान्य अपशिष्ट शुद्धिकरण संयंत्र (सीईटीपी) सुविधा लागू करने की जरुरत पर भी बल दिया। तिरुपुर में वस्त्र उद्योगों द्वारा इस प्रकार के संयंत्रों को स्थापित करवाने पर ध्यान दिया जाएगा। सरकार चम़डा उद्योग के विकास के लिए और पारंपरिक कार्य करने वाले क्षेत्रों को पर्यावरण मैत्री ढंग से विकसित करने पर ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा कि हाल के कुछ वर्षों में चम़डा उत्पादों के निर्यात में कमी आई है लेकिन इसे बढाने पर ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत को वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला का हिस्सा बनाने के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है।केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि देश के सकल घरेलू उत्पादन का लगभग ४० प्रतिशत निर्यात से आना चाहिए। इसे बढाने के लिए हम मेक इन इंडिया पर जोर दे रहे हैं। इसलिए देश में उत्पादों का डिजाइन तैयार करने और उत्पादन बढाने पर ध्यान के्द्रिरत किया जा रहा है। इन प्रयासों से देश से निर्यात में बढोत्तरी होने की उम्मीद है। इस तीन दिवसीय प्रदर्शनी में २२ विभिन्न देशों से ५०० प्रदर्शक हिस्सा ले रहे हैं। इस प्रदर्शनी के माध्यम से विभिन्न देशों के चम़डा और फुटवियर उद्योग से जु़डे लोगों को एक साथ लाने और व्यापारिक नेटवर्क का विस्तार करने की कोशिश की जा रही है। प्रदर्शनी के दौरान चम़डा से विभिन्न प्रकार के उत्पादों के निर्माण में उपयोगी साबित होने वाली मशीनों को भी प्रदर्शित किया जा रहा है।इस अवसर पर राज्य के उद्योग मंत्री एमसी संपत,घरेलू उद्योग मंत्री पी बेंजामिन, चम़डा निर्यात परिषद के चेयरमैन मुख्तारुल अमीन, वाइस चेयरमैन ईशार अहमद, परिषद के दक्षिण क्षेत्र के क्षेत्रीय चेयरमैन निगार अहमद तथा चम़डा उद्योग से जु़डे अग्रणी कंपनियों के प्रतिनिधि उपस्थित थे। केन्द्रीय मंत्री ने सभी श्रेणी में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने के लिए चेन्नई आधारित केएस एक्सपोर्टस कऔर टाटा इंटरनेशनल को मामेंेंटो देकर पुरस्कृत किया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY