नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख एवं केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने गुरुवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में लोकसभा उप चुनाव के परिणाम चिन्ताजनक हैं और यह राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के लिए नयी रणनीति तय करने का अवसर है। श्री पासवान ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर भारतीय जनता पार्टी का हारना चिन्ता का विषय है। उन्होंने कहा कि उत्तर भारत में जाति की राजनीति है और यह चुनाव परिणामों को प्रभावित करती है । इन उप चुनावों में राज्य में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी एकजुट हो गयी तथा अल्पसंख्यक समुदाय उसके साथ हो गया जिससे भाजपा के उम्मीदवार हार गये। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वह ’’अतिविश्वास’’ के कारण हार गये जिससे वह सहमत नहीं हैं। लोगों को एकजुट होने का अधिकार है और वे इस चुनाव में एकजुट हुए। उन्होंने कहा कि भाजपा ने सबका साथ सबका विकास का नारा दिया था जिस पर उसे कायम रहना होगा। समाज के हर तबके में उसे विश्वास पैदा करना होगा।श्री पासवान ने एक सवाल पर कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में टूट नहीं होगी बल्कि बिहार में राष्ट्रीय जनता दल में ऐसा हो सकता है क्योंकि उसके कार्यकर्ता घुटन महसूस कर रहे हैं। बिहार में हुए उप चुनावों के परिणाम चौंकाने वाला नहीं है बल्कि इनका पहले से अनुमान था। उन्होंने कहा कि अररिया में पिछले लोकसभा चुनाव में राजद का प्रत्याशी डेढ लाख वोट से जीता था लेकिन इस बार ६१ हजार से जीता है जिससे स्पस्ट है कि उसका वोट घटा है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY