र को सुंदर और साफ-सुथरा रखने के लिए महिलाएं घर के अंदर कई डिजाइन के कार्पेट लगाती है। साथ ही सोफा और बेड से मैच करते हुए पर्दे भी घर की खूबसूरती में चार चांद लगा देते है। लेकिन क्या आप जानते है कि यही कार्पेट आपके लिए कितने खतरनाक साबित हो सकते है। घर को सुंदर बनाने वाले कार्पेट और पर्दे अस्थमा जैसे गंभीर रोग का शिकार भी बना सकते हैं। डॉक्टरों का कहना है कि घर में बिछाए गए कार्पेट और खि़डकी-दरवाजों पर भारी-भरकम पर्दों में मौजूद वायरस और फंगस, अस्थमा को तेजी से दावत देते हैं। अस्थमा कभी पूरी तरह ठीक नहीं होता इस पर नियंत्रण किया जा सकता है। इसलिए हमेशा साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखना चाहिए। अस्थमा के लक्षणों में व्यक्ति की लगातार सांस फूलना, सांस लेने पर छाती से आवाज आना, लंबे समय से खांसी होना शामिल है। अगर किसी व्यक्ति में ये लक्षण दिखे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा घरों में पेट्स पालने का ट्रेंड भी अस्थमा का ब़डा कारण माना जाता है। कुत्ते बिल्ली जैसे जानवरों के बालों में भी कई बैक्टीरिया और धूलकण जम जाते हैं। लोग इनके साथ बैठकर खाना खाते हैं, सोते हैं जिससे अस्थमा का खतरा दोगुना ब़ढ जाता है, इसलिए इन जानवरों से दूरी जरूरी है। बुखार, सिरदर्द, जुकाम होने पर लोग अपनी मर्जी से आईब्रुफीन या अन्य गोलियां डॉक्टर की सलाह के बिना खा लेते हैं, जो शरीर में अस्थमा के रोग पैदा कर सकती है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY