वर्ष 2001 में संसद पर आतंकी हमला हुआ था। उसके बाद सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई थी, लेकिन जब बलबीर का इस तरह संसद परिसर में घूमते हुए स्टिंग जारी हुआ तो उनके खिलाफ कार्रवाई की गई।

मुंबई। एक शख्स की शक्ल ही उसके लिए भारी मुसीबत ले आई। इन दिनों वह थाने और अदालतों के चक्कर लगा रहा है। दरअसल यह मामला 2003 का है। उस समय एक टीवी चैनल ने स्टिंग किया था, जिसके तहत भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के हमशक्ल बलबीर सिंह राजपूत का इस्तेमाल किया गया। स्टिंग में बलबीर सिंह को संसद में घूमते दिखाया गया था। उसके बाद बलबीर पर आपराधिक मुकदमा दर्ज हो गया। तब से यह शख्स कभी थाने तो कभी अदालतों के चक्कर लगा रहा है। करीब 84 साल के बलबीर के लिए इस उम्र में यह सब करना किसी मुसीबत से कम नहीं है।

बलबीर अब अपने उस फैसले पर पश्चाताप कर रहे हैं। यही नहीं, उन्हें दो बार तो दिल का दौरा पड़ चुका है। अगर उन्हें पता होता कि मामला इतना लंबा खिंच जाएगा तो शायद वे उस स्टिंग का हिस्सा नहीं बनते। स्टिंग के जरिए यह दिखाया गया था कि संसद की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था को पार कर शत्रुघ्न सिन्हा जैसी शक्ल वाला शख्स वहां घूम सकता है। स्टिंग में बलबीर संसद में घूमते दिखे। वे मोबाइल फोन पर बातें कर रहे थे।

चूंकि वहां तैनात सुरक्षा गार्ड ने उन्हें शत्रुघ्न सिन्हा समझा, इसलिए उन्हें बिना तलाशी अंदर जाने दिया गया। वर्ष 2001 में संसद पर आतंकी हमला हुआ था। उसके बाद सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई थी, लेकिन जब बलबीर का इस तरह संसद परिसर में घूमते हुए स्टिंग जारी हुआ तो उनके खिलाफ कार्रवाई की गई। अब उन्हें थाने से लेकर अदालतों तक के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। इसमें वे काफी र​कम लगा चुके हैं। उनकी सेहत गिरती जा रही है और वे हृदय रोग से पीड़ित हैं।

अब बलबीर उस घटना पर पछता रहे हैं। वे कहते हैं कि स्टिंग को तो खूब टीआरपी मिली पर उन्हें तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं शत्रुघ्न सिन्हा बलबीर को माफ कर चुके हैं। उन्होंने अपील भी की थी कि अब बलबीर को माफ कर दिया जाना चाहिए। उन्होंने उनकी खराब सेहत और उम्र का ख्याल रखने की गुजारिश की है।

जरूर पढ़िए:
– रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठ के बाद देश में उठ रही मांग- ‘दो बच्चों का सख्त कानून लागू करे सरकार’
– असम में तृणमूल को तगड़ा झटका, ममता के बयान से नाराज प्रदेशाध्यक्ष ने दिया इस्तीफा
– चीन के सरकारी अखबार ने की मोदी की तारीफ, आर्थिक सुधारों को बताया बड़ी उपलब्धि
– वॉट्सअप के जरिए आईएसआई डाल रही युवाओं पर जाल, इन मैसेज से बना रही निशाना

Facebook Comments

LEAVE A REPLY