चेन्नई। भारतीय कोस्टगार्ड द्वारा गुरुवार को अपनी ४१ वीं वर्षगांठ मनाई गई। वर्ष १९७८ में ७ जहाजों के साथ भारतीय कोस्टगार्ड की एक साधारण शुरूआत की गई थी जो मौजूदा समय में एक ब़डे सुरक्षा बल के रुप में बदल चुकी है। मौजूदा समय में कोस्टगार्ड के पास, ६२ विमान और १३४ सतही इकाइयां जिनमें १८ हॉवर क्राफ्ट शामिल हैं। भारत और राष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र की संपूर्ण तटरेखा को पांच तट रक्षक क्षेत्र में विभाजित किया गया है, ताकि भारतीय कोस्टगाउर् तटवर्ती जिला मुख्यालयों, स्टेशनों और तटरक्षक वायु स्टेशनों के माध्यम से विभिन्न स्थानों पर सुरक्षा सुनिश्चित कर सके। इस अवसर पर राज्य के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित थे। राज्यपाल ने इस अवसर पर आयोजित केक कटिंग सेरमनी और सनसेट सेरेमनी में हिस्सा लिया। दुनिया के चौथे सबसे ब़डे तटरक्षक के रूप में भारतीय तटरक्षक बल ने भारतीय ईईजेड को हासिल करने और भारत के समुद्री क्षेत्रों के भीतर नियमों को लागू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसके आदर्श वाक्य व्याम रक्षामह का अर्थ है हम रक्षा करते हैं। इसके द्वारा अभी तक ८५२२ लोगों की जान बचाने, २९८ लोगों को समुद्र के भीतर स्वास्थ्य खराब होने के बाद बाहर निकालने और १३१७७ उल्लंघनकर्ताओं कानून तो़डने वाले लोगों को गिरफ्तार किया है।महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए सरकार की नीतियों के अनुरुप भारतीय कोस्टगार्ड ने ल़डाकू विमानों के संचालन में महिला अधिकारियों को रोजगार देना शुरू कर दिया है। इसके द्वारा महिला डॉर्नियर विमान पायलटों को नियुक्त किया गया है। कोस्टगार्ड की महिला अधिकारियों ने पाल्क बे और मन्नार की खा़डी के संवेदनशील क्षेत्र में एसीवी (एयर कुशन वेसल्स) का संचालन कर अपना दमखम भी प्रदर्शित किया है।भारतीय कोस्ट गार्ड के चालीस साल की सेवा के लिए देश को मनाने के लिए, मुख्यालय कोस्टगार्ड (पूर्वी क्षेत्र) द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया गया। गत ०९ जनवरी इंटर स्कूल पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन तटरक्षक वायु स्टेशन (चेन्नई) में किया गया था। १० जनवरी को तटरक्षक जहाज सागर ने स्कूल के बच्चों के लिए क्विज प्रतियोगिता आयोजित की, जिसमें लगभग विभिन्न स्कूलों के ६० बच्चों ने भाग लिया। स्कूल के बच्चों के लिए जहाज खोलें कार्यक्रम तहत विभिन्न विद्यालयों के लगभग ९५० बच्चे (चेन्नई सहित)आगामी ५ मई को चेन्नई बंदरगाह पर कोस्टगार्ड के जहाजों का दौरा करेंगे। इसके साथ ही इसके द्वारा ’’सागर में दिन’’, ’’विशेष’’ सामुदायिक संवाद कार्यक्रम और मछुआरों के लिए खेल, तटों की विशेष सफाई, साइकिल रैली भी कोस्टगार्ड समारोह के अवसर पर आयोजित किए जाएंगे।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY