मुगलसराय। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को सपा, बसपा और कांग्रेस पर खूब शब्दबाण चलाए। उन्होंने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से सवाल किया। उन्होंने राहुल से पूछा, क्या बांग्लादेशी घुसपैठियों को वापस नहीं भेजना चाहिए? शाह ने विपक्ष को कहा कि उन्हें एनआरसी पर अपना रुख स्पष्ट करना होगा, क्योंकि यह देश की सुरक्षा से जुड़ा मसला है। उन्होंने आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर विपक्ष के महागठबंधन पर कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस के गठजोड़ से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। उस स्थिति में भी भाजपा ज्यादा सीटें लेकर आएगी। शाह ने कहा कि हम 73 से 74 होंगे, 72 नहीं।

इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष ने एनआरसी के मुद्दे को जोरशोर से उठाया। उन्होंने मौजूद लोगों से सवाल किया, बांग्लादेशी घुसपैठियों को रोका जाना चाहिए या नहीं? वे कांग्रेस पर भी हमला हमला करने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर निकालने के लिए एनआरसी एक महत्वपूर्ण माध्यम है। उन्होंने सपा, बसपा और कांग्रेस से पूछा, क्या ये पार्टियां बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर निकालने के पक्ष में हैं या यहीं रखने के?

अमित शाह ने ओबीसी बिल के संबंध में भी राहुल गांधी से सवाल किया। उन्होंने पूछा, क्या कांग्रेस राज्यसभा में ओबीसी बिल का समर्थन करेगी? उन्होंने कहा कि अगर विपक्ष समर्थन न देगा तो भी वे उसे कामयाब बनाएंगे। उन्होंने आगामी लोकसभा चुनावों में पार्टी की जीत के प्रति भरोसा जताया। शाह ने कहा कि 2019 में दिल्ली के चुनाव का रास्ता यूपी से होकर जाएगा।

अमित शाह ने कहा कि बुआ (मायावती), भतीजा (अखिलेश) और राहुल मिल जाएं तो भी नहीं जीत पाएंगे। उन्होंने भाजपा की पिछले चुनावों से ज्यादा सीटें आने का भरोसा जताया। अमित शाह ने सपा और बसपा की पूर्व सरकारों पर आरोप लगाया कि उनके शासन में गुंडा, माफिया जैसे तत्वों का बोलबाला था। शाह ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश से उनकी पार्टी की सीटों में से एक की भी कमी नहीं आएगी, बल्कि वे बढ़ोतरी के साथ चुनाव जीतेंगे।

जरूर पढ़िए:
– तो फ़ौज नहीं, इस एप की ‘कृपा’ से चुनाव जीते हैं इमरान ख़ान!
– मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए बुजुर्ग ने मांगी मनौती, पेट के बल कर रहे 90 किमी यात्रा
– पढ़िए मां ढाकेश्वरी के उस मंदिर की कहानी जिसका मज़ाक उड़ाने के बाद युद्ध में हारा पाकिस्तान

Facebook Comments

LEAVE A REPLY