नई दिल्ली/भाषाकेंद्रीय सतर्कता आयुक्त केवी चौधरी ने पीएनबी ऋण धोखाध़डी को लेकर आरबीआई को भी जिम्मेदार ठहराया है और कहा है कि जाहिरा तौर पर लगता है कि घोटाले के दौरान केंद्रीय बैंक ने कोई आडिट नहींकी। चौधरी ने बैंकिंग क्षेत्र में आडिट प्रणालीको और अधिक मजबूत किए जाने पर बल दिया है। सीवीसी, केंद्रीय जांच ब्यूरो ( सीबीआई) के कामकाज पर नजर रखता है। पंजाब नेशनल बैंक में १३,००० करो़ड रुपये की ऋण धोखाध़डी की जांचसीबीआई कर रही है। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक का काम बैंकों का विनियमन करना है। लेकिन ईमानदारी में किसी तरह की कोताही पर केंद्रीय सतर्कता आयोग गौर करेगा।चौधरी ने कहा कि रिजर्व बैंक के अनुसार उसने नियमित आडिट की जगह जोखिम आधारित’’ आडिट व्यवस्था को अपनाया है। यह तब किया जाता है जब वित्तीय जोखिम शामिल हो।उन्होंने कहा, जोखिम निर्धारित करने के लिये उनके पास कुछ मानदंड होने चाहिए। उसके आधार पर वे आडिट करते हैं। लेकिन ऐसा जान प़डता है कि उस दौरान आरबीआई ने कोई आडिट नहीं किया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY