नई दिल्ली/भाषाप्रवर्तन निदेशालय भगो़डे आर्थिक अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए नये अध्यादेश के कार्यान्वयन की शुरुआत विजय माल्या व नीरव मोदी जैसे लोगों के खिलाफ कर सकता है। निदेशालय (ईडी) भगो़डे आर्थिक अपराधियों के खिलाफ नये अध्यादेश के अधिसूचित होने के बाद माल्या व नीरव मोदी जैसे भगो़डों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए १५,००० करो़ड रुपये से अधिक मूल्य की संपत्तियों को कुर्क करने की तैयारी में है। निदेशालय के अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने ब़डे राशि के घोटालों से सम्बद्ध भगो़डे व बैंक कर्ज नहीं चुकाने वालों के मौजूदा मामलों को एक साथ लाने पर काम शुरू किया है। निदेशालय जल्द ही इन लोगों के खिलाफ नये अध्यादेश के तहत आदेश जारी किए जाने के लिए विशेष मनी लांड्रिंग विरोधी अदालतों का दरवाजा खटखटाएगा।उन्होंने कहा कि पहले चरण में विजय माल्या, नीरव मोदी व उसके मामा मेहुल चौकसी , विनसम डायमंड कंपनी के प्रवर्तक जतिन मेहता तथा अन्य के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की उम्मीद है। नये अध्यादेश के कार्यान्वयन के लिए ईडी सक्षम एजेंसी है। अधिकारियों के अनुसार इस नये अध्यादेश के तहत भगो़डे की देश विदेश सहित उन सभी संपत्तियों को तत्काल कुर्क कर लिया जाएगा जिन्हें ङ्घनिदेशालय ने मनी लांड्रिंग निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत अभी तक जब्त नहीं किया है। उन्होंने कहा कि सीबीआई व ईडी द्वारा अपने अपने आरोप पत्र दाखिल किए जाने के बाद नीरव मोदी व चौकसी के खिलाफ मामला नये अध्यादेश के तहत चलेगा। उन्होंने कहा कि पहले चरण में निदेशालय नये अध्यादेशों के प्रावधानों के तहत अनुमानित १५००० करो़ड रुपये की संपत्तियां कुर्क कर सकता है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY