नई दिल्ली। विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के महा निदेशक रॉबर्टो एजेवेदो ने सोमवार को यहां प्रघानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और वैश्विक व्यापार से जु़डे मुद्दों पर चर्चा की। समझा जाता है कि एजेवेदो ने प्रधानमंत्री के साथ डब्ल्यूटीओ के तहत वैश्विक व्यापार की बाधाओं पर विचार-विमर्श किया और भविष्य की नीतियों पर चर्चा की। एजेवेदो डब्ल्यूटीओ की मंत्रिस्तरीय अनौपचारिक बैठक में भाग लेने यहां आएं हैं। इसकी मंगलवार को होने वाली बैठक में विश्व व्यापार वार्ता में आने वाली बाधाओं पर चर्चा की जाएगी। इस बैठक में ५० देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। संबंधित देशों के व्यापार एवं वाणिज्य मंत्री और अधिकारी वैश्विक व्यापार के मसलों पर विचार-विमर्श करेंगे। बैठक का मकसद डब्ल्यूटीओ के समक्ष मौजूद ब़डे मसलों पर बातचीत आगे ब़ढाने के रास्ते तलाशना है। इनमें बहुपक्षीय मसलों के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों के मुद्दे भी शामिल होंगे। वाणिज्य सचिव रीता तेवतिया ने हाल ही में कहा था कि पिछले वर्ष दिसंबर में ब्यूनस आयर्स (अर्जेटीना) में यह वार्ता विफल हो जाने के बाद इस बैठक से कोई रास्ता निकल सकेगा। प्रधानमंत्री से मुलाकात से पहले एजेवेदो ने कहा कि मंत्री स्तरीय बैठक में चर्चा से संगठन की जिम्मेदारियों को आगे ब़ढाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस समय वैश्विक स्तर पर व्यापार माहौल काफी जोखिमपूर्ण है। डब्ल्यूटीओ की अनौपचारिक बैठक के परिणाम जिनेवा में वार्ता को आगे ब़ढाने के लिए होने वाली आधिकारिक बैठक के लिए उपयोगी होंगे। बैठक में कोई निश्चित एजेंडा नहीं है लेकिन अमेरिका के भारत के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में जाने के मद्देनजर यह बैठक काफी महत्त्वपूर्ण है। इस बीच भारत ने कहा है कि बैठक से मुक्त और निष्पक्ष बातचीत का मौका मिलेगा और उम्मीद है कि यह कुछ प्रमुख मुद्दों पर राजनीतिक दिशा-निर्देश उपलब्ध कराएगी।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY