ब्यूनसआयर्स/भाषा

भारत युवा ओलंपिक खेलों की हॉकी फाइव प्रतियोगिता में अपने अभियान का शानदार अंत करने में नाकाम रहा और उसे पुरुष और महिला दोनों वर्गों के फाइनल में हारने के कारण रजत पदक से संतोष करना प़डा। भारतीय पुरुष टीम को रविवार को खेले गए फाइनल में मलेशिया से २-४ से जबकि महिला टीम को मेजबान अर्जेटीना के हाथों १-३ से हार का सामना करना प़डा। मलेशिया की पुरुष और अर्जेंटीना की महिला टीमों ने पहली बार स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा। अर्जेंटीना की पुरुष टीम और चीन की महिला टीम ने कांस्य पदक जीते। अर्जेंटीना की पुरुष टीम ने तीसरे स्थान के लिए खेले गए मैच में जांबिया को ४-० से जबकि चीन की महिला टीम ने दक्षिण अफ्रीका को ६-० से हराया। पुरुष वर्ग के स्वर्ण पदक के मैच में भारत ने विवेक सागर प्रसाद के गोल से दूसरे मिनट में ही ब़ढत हासिल कर ली थी। मलेशिया ने हालांकि दो मिनट बाद ही बराबरी का गोल दाग दिया। उसकी तरफ से यह गोल फिरदौस रोस्दी ने किया। प्रसाद ने पांचवें मिनट में दूसरा गोल करके भारत को फिर से २-१ से आगे कर दिया और उसने मध्यांतर तक यह ब़ढत बरकरार रखी। मध्यांतर के बाद मलेशिया ने शानदार वापसी की। उसकी तरफ से अकीमुल्लाह अनवर ने १३वें मिनट में दूसरा गोल दागा जबकि अमीरूल अजहर ने तीन मिनट बाद उसे ब़ढत दिलाई। जब खेल समाप्त होने में दो मिनट का खेल बचा था जब अनवर ने अपना दूसरा और टीम की तरफ से चौथा गोल किया।

LEAVE A REPLY