Rahul Gandhi
Rahul Gandhi

रायपुर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एक बार फिर से छाए हुए हैं। न्यूज वेबसाइट्स से लेकर फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सअप पर उनके ही चर्चे हैं। वजह है एक खास वीडियो, जिसमें राहुल गांधी भाजपा सरकार पर निशाना साध रहे हैं लेकिन इसी बीच एक ऐसी गलती कर बैठते हैं कि सोशल मीडिया पर उनका खूब मजाक बन रहा है। राहुल छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार से कहना चाहते हैं कि उसे बीएचईएल (भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लि.) से मोबाइल खरीदने चाहिए।

राहुल के इस भाषण के अंश सोशल मीडिया पर आ गए, जिसके बाद लोगों ने इस पर खूब चुटकी ली। इस वीडियो में राहुल कहते हैं कि ये जो मोबाइल हैं, उन्होंने बीएचईएल से क्यों नहीं खरीदा? ये आप मुझे बात समझाइए कि इन्होंने बीएचईएल से क्यों नहीं खरीदा? राहुल इसमें घोटाले का आरोप लगाते हैं।

राहुल गांधी छत्तीसगढ़ सरकार की संचार क्रांति योजना पर सवाल उठा रहे थे। इस योजना के तहत सरकार महिलाओं और गरीबी रेखा में आने वाले परिवारों को स्मार्टफोन देती है। राहुल गांधी ने कहा है कि सरकार को ये फोन बीएचईएल से खरीदने चाहिए, जो कि एक सरकारी कंपनी है।

यह जानना भी जरूरी है कि बीएचईएल मोबाइल फोन का निर्माण नहीं करती। यह बिजली से चलने वाले भारी उपकरणों का निर्माण करती है। अब राहुल के बयान पर यूजर्स सवाल उठा रहे हैं कि उन्हें भाषण देने से पहले मालूम कर लेना चाहिए कि बीएचईएल क्या काम करती है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर कुछ इस तरह प्रतिक्रिया दी:

एक अन्य यूजर ने इसे राहुल गांधी का ‘नया कारनामा’ बताया है। उसने कहा है कि ये जहां मीटिंग करें, करने दीजिए। इनके रहते मोदी को कोई नहीं हरा सकता। वहीं कुछ यूजर्स ने राहुल का पक्ष लिया है। उन्होंने कहा है कि संभवत: राहुल बीईएल (भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लि.) बोलना चाहते थे, लेकिन बीएचईएल बोल गए। इसलिए छोटी-सी बात पर किसी का मजाक उड़ाना ठीक नहीं है।

ये भी पढ़िए:
– साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष का दावा- सरकार की बदनामी के लिए हुई थी अवार्ड वापसी
– पूर्व आईपीएस बोलीं- बंगाल में बढ़ रहा भाजपा का जनाधार, इसलिए खफा हुईं ममता
– ड्राइविंग लाइसेंस घर भूल आए तो फिक्र न करें, सरकार ने आसान कर दिया आपका काम

LEAVE A REPLY