बालेश्वर (ओडिशा)। भारत ने परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम अग्नि-१ बैलिस्टिक मिसाइल का ओडिशा तट के पास एक परीक्षण रेंज से मंगलवार को सफल परीक्षण किया। इस मिसाइल की मारक क्षमता ७०० किलोमीटर से अधिक है। रक्षा सूत्रों ने बताया कि सतह से सतह पर मार करने में सक्षम और देश में विकसित इस मिसाइल का परीक्षण संचालनात्मक तैयारी को मजबूत करने के लिए सेना की स्ट्रैटेजिक फोर्सेस कमांड (एसएफसी) की समय-समय पर की जाने वाली प्रशिक्षण गतिविधि के तहत किया गया। सूत्रों ने बताया कि इस अत्याधुनिक मिसाइल का परीक्षण डॉ. अब्दुल कलाम द्वीप पर एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) के पैड ४ पर मोबाइल लॉन्चर से सुबह करीब सा़ढे आठ बजे किया गया। डॉ. अब्दुल कलाम द्वीप को पहले व्हीलर आईलैंड के नाम से जाना जाता था।उन्होंने इस परीक्षण को पूरी तरह सफल करार देते हुए कहा कि परीक्षण के दौरान मिशन के सभी उद्देश्य पूरे हुए। सूत्रों ने कहा, मिसाइल के प्रक्षेपण से लेकर उसके पूर्ण सटीकता के साथ अपने लक्षित क्षेत्र में पहुंचने तक परीक्षण के प्रक्षेप पथ पर अत्याधुनिक रडारों, टेलीमेट्री अवलोकन स्टेशनों, इलेक्ट्रो- ऑप्टिक उपकरणों और नौसेना के पोतों से नजर रखी गई।

LEAVE A REPLY