robinhood bank manager
robinhood bank manager

रोम। इटली में एक ऐसे बैंक मैनेजर का कारनामा चर्चा में है जो गरीबों से बहुत ज्यादा हमदर्दी रखता था। उसने गरीबों की मदद के लिए अजीब तरीका अपनाया। वह जिस बैंक में मैनेजर था, उसके अमीर ग्राहकों के खातों से रकम निकालकर गरीबों के खातों में डाल देता था। यह घटना फोर्नी डी सपोरा नामक कस्बे की है। यहां बैंक मैनेजर गिलबर्टो बेशिएरा को उनके इस कारनामे की वजह से अदालतों के चक्कर लगाने पड़ गए।

मैनेजर पर करीब 9 लाख डॉलर (6.63 करोड़ रुपए) की हेराफेरी करने का आरोप लगा और अदालत ने उन्हें इस अपराध के लिए दोषी भी ठहरा दिया। इसके बाद यह बैंक मैनेजर दुनिया के कई देशों में मशहूर हो गया।

गरीबों पर आती थी दया
बताया गया है कि वह अक्सर अपने बैंक के ग्राहकों के खाते चेक किया करता था। इस दौरान उसने ऐसे कई खाते देखे जिनमें अथाह राशि भरी पड़ी थी। वहीं ऐसे खातों की भी कमी नहीं जिनसे मामूली रकम का ही लेनदेन होता था। मैनेजर गिलबर्टो को ऐसे गरीबों पर बहुत दया आती थी।

नहीं ली खुद के लिए रकम
इसके बाद उन्होंने ऐसे अमीरों के खातों से चुपके से रकम निकालकर गरीबों के खातों में भेजनी शुरू कर दी। धीरे—धीरे यह रकम करोड़ों में पहुंच गई। हालांकि इस दौरान मैनेजर गिलबर्टो ने खुद के इस्तेमाल के लिए कोई रकम नहीं ली। उन्होंने पूरी रकम गरीबों में ही बांट दी। तब तक बैंक के उच्चाधिकारियों के पास उनकी शिकायत पहुंच गई। फिर मामले की जांच की गई और मैनेजर गिलबर्टों दोषी पाए।

जेल जाने से बचे
मालूम हुआ कि वे करीब सात साल तक यूं ही गरीबों की मदद करते रहे। वहीं उनके लिए राहत की बात यह है कि इटली की अदालत ने एक विशेष कानून के तहत उनके जेल जाने पर रोक लगा दी है। अब वे बरी कर दिए गए हैं। अदालत का मत था कि मैनेजर गिलबर्टों का इस किस्म का पहला अपराध था। उन पर मुकदमे की खबर सुनकर कई लोगों ने उनके पक्ष में अभियान चलाया था। गिलबर्टों के रिहा होने के बाद उनमें खुशी की लहर है।

ये भी पढ़िए:
– बंदर को बस चलाना सिखा रहा था ड्राइवर, वायरल हुआ यह वीडियो
– राजस्थान, मप्र समेत इन 5 राज्यों में बज गया चुनावी बिगुल, जानिए कहां कब होगा मतदान
– क्या राजस्थान में तीसरे मोर्चे के नाम पर सियासी जुगलबंदी कांग्रेस को पहुंचाएगी नुकसान?

LEAVE A REPLY