नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक तथा कुछ अन्य बैंक घोटालों, राफेल सौदे, आन्ध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग, बेरोजगारी जैसे मुद्दों और विपक्ष के सरकार पर राजनीतिक बदले की भावना से काम करने के आरोपों के चलते संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण के हंगामेदार रहने के आसार हैं। पूर्वोत्तर के तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणामों की छाया भी संसद सत्र पर देखने को मिलेगी क्योंकि इनमें मजबूत होकर उभरी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विपक्ष के हमलों को फीका कर हावी रहने की कोशिश करेगी। सत्तारूढ दल पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदम्बरम के पुत्र कार्ति चिदम्बरम की आईएनएक्स मीडिया घोटाले में गिरफ्तारी का भी मुद्दा उठाएगा जबकि कांग्रेस इसे पहले से ही बदले की भावना से उठाया गया कदम बता रही है। बजट सत्र का दूसरा चरण ५ मार्च से शुरू होकर ६ अप्रैल तक चलेगा। पहला चरण २९ जनवरी से ९ फरवरी तक हुआ था। करीब १३ हजार करो़ड रुपए के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले को लेकर जिस तरह से सत्तारूढ भाजपा तथा विपक्षी कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है उससे इस मुद्दे पर संसद में टकराव होना तय माना जा रहा है। कांग्रेस ने ऐलान किया है कि वह संसद में इस मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरेगी। पार्टी ने सरकार से बैंकों की स्थिति पर संसद में श्वेत पत्र लाने की मांग की है। वह इस घोटाले के आरोपी नीरव मोदी तथा मेहुल चौकसी के विदेश फरार होने को भी ब़डा मुद्दा बना रही है। कांग्रेस राफेल सौदे को लेकर भी सरकार को घेरने की तैयारी में है। उसका कहना है कि इसमें ब़डा घोटाला हुआ है और इन ल़डाकू विमानों को पहले के सौदे की तुलना में कहीं अधिक कीमत में खरीदा जा रहा है। विपक्ष ने सरकार पर इस सौदे में एक निजी कंपनी को फायदा पहुंचाने का भी आरोप लगाया है। उधर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि सरकार इस सौदे पर हर सवाल का जवाब देने को तैयार हैं और वह विपक्ष द्वारा इस मुद्दे को उठाए जाने का स्वागत करेंगी। कांग्रेस तथा अन्य दलों ने सरकार पर बेरोजगारी की समस्या का समाधान करने में विफल रहने का आरोप लगाया है। राहुल ने प्रधानमंत्री पर लोकसभा चुनाव से पहले किए गए इस वादे को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया है जिसमें उन्होंने हर साल रोजगार के दो करो़ड अवसर पैदा करने की घोषणा की थी। पार्टी ने ’’पकौ़डा प्रकरण’’ को भी नहीं छो़डा है और वह पकौ़डे तलने को रोजगार से जो़डने की प्रधानमंत्री की बात पर उन्हें घेरने की तैयारी में है। कांग्रेस लोकसभा में उसके नेता मल्लिकार्जुन खरगे को लोकपाल का चयन करने वाली समिति में विशेष आमंत्रित सदस्य की हैसियत से बुलाने का भी विरोध कर रही है। उसने इस समिति की बैठक में हिस्सा नहीं लेने को कहा है।

LEAVE A REPLY