बेंगलूरु/दक्षिण भारतकांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को आरोप लगाया कि बैंकों में जमा ९० फीसद रकम देश के १५ अमीर उद्योगपतियों के हाथों में जा रही है। यहां कप़डा उद्योग की महिला कर्मचारियों के साथ बातचीत में राहुल ने कहा, ‘उन्हें सारा पैसा मिलता है। छोटे और मझौले कारखानों को पैसा नहीं मिलता।’’गांधी ने कहा, नीरव मोदी (हीरा कारोबारी) ने किसी को नौकरी नहीं दी। उसने ३५ हजार करो़ड रुपए पार किये और देश छो़डकर भाग गया। यह रकम आपके जैसी छोटी और मध्यम आकार की फै्ट्रिरयों को दी जा सकती थी। आपकी फैक्ट्री तब हजारों लोगों को रोजगार दे सकती थी। उन्होंने कहा कि खनन कारोबारी रेड्डी बंधुओं ने भी ३५,००० करो़ड रूपये चुराए हैं जिससे और हजारों नौकरियां पैदा की जा सकती थी। गांधी ने कहा कि बहुत से छोटे कप़डा कारखाने बांग्लादेश स्थानांतरित हो गए क्योंकि सब्सिडी नहीं मिलने की वजह से वे बाहर की प्रतिस्पर्धा का मुकाबला नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि जीएसटी और नोटबंदी भी कप़डा कारखानों के बंद होने का कारण हैं।कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि रोजगार भारत के सामने सबसे ब़डी समस्या है और कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में अगले पांच सालों में एक करो़ड नौकरियां देने की बात कही है। उन्होंने कहा कि छोटे और मझौले कारखानों में रोजगार सृजन की ज्यादा संभावना होती है इसलिए उन्हें पूरा सहयोग दिया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY