बिशप पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली नन ने वेटिकन को पत्र लिखकर की इंसाफ की मांग

0
239

कोट्टायम/भाषा। एक रोमन कैथोलिक बिशप पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली नन ने भारत में वेटिकन के प्रतिनिधि को पत्र लिख कर आरोप लगाया है कि मामले को दबाने के लिए पादरी राजनीतिक और धन बल का उपयोग कर रहे हैं।

नन ने पादरी को पद से हटाने की भी मांग की है। नन ने वैटिकन के अपोस्टोलिक नुनसिओ (राजनयिक मिशन) गिआम्बैटिस्टा डिक्यूट्रो को लिखे एक पत्र में कहा कि वह न्याय के लिए चर्च अधिकारियों के पास आयी है। नन ने उनसे मामले में तत्काल हस्तक्षेप की मांग की।

नन ने आरोप लगाया कि जालंधर में अपने पद पर बने रहकर बिशप फ्रेंको मुलक्कल और उनके सहयोगी पुलिस जांच को प्रभावित करने के लिए धन-बल का इस्तेमाल कर रहे हैं। आठ सितंबर को लिखे पत्र में नन ने आरोप लगाया कि बिशप और उनके सहयोगी अपने पक्ष में समर्थन जुटाने के लिए लोगों को संपत्ति तथा अन्य प्रकार के धन का प्रलोभन दे रहे हैं। पत्र की प्रति मीडिया के पास भी है।

यह मामला सामने आने के बाद काफी चर्चा में रहा है। इससे पहले भी कई महिलाओं ने विभिन्न धर्मगुरुओं पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कई कथित धर्मगुरुओं पर तो दुष्कर्म जैसे गंभीर आरोप सिद्ध भी हो चुके हैं और वे इस वक्त जेल में सजा काट रहे हैं। लोगों ने नन के मामले में कहा है कि हकीकत सामने आनी चाहिए और जो भी गुनहगार है, उसे सजा मिलनी चाहिए।

ये भी पढ़िए:
ग़ज़ब: यहां लड़की ने अपने हाथ से खिलाया लड़के को खाना तो हो गई जेल!
सेहत और सौभाग्य चाहते हैं तो रसोई में न करें ये गलतियां वरना हमेशा रहेंगे परेशान
41 साल तक चला 312 रुपए का मामला, महिला की मौत के बाद पक्ष में आया फैसला
9/11: इस शख्स ने की थी अमेरिकी खुफिया एजेंसी की मदद और मारा गया ओसामा

LEAVE A REPLY