capital punishment in bangladesh
capital punishment in bangladesh

ढाका। बांग्लादेश की एक अदालत ने 19 लोगों को मौत की सजा सुनाई है। यह सजा पाने वालों में दो पूर्व मंत्री भी हैं। इसके अलावा 19 अन्य लोगों को उम्रकैद सुनाई गई है। उम्रकैद पाने वालों में पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया का बेटा तारिक रहमान भी है। इसके अलावा अदालत ने 11 अन्य लोगों को सजा सुनाई है। इन्हें छह महीने से लेकर दो साल तक की कैद हुई है।

बांग्लादेश में यह मामला आज बहुत चर्चा में है। ढाका से प्रकाशित होने वाले ‘द डेली स्टार’ के अनुसार, ये सजाएं 21 अगस्त, 2004 के एक मामले में सुनाई गई हैं। उस दिन मौजूदा प्रधानमंत्री शेख हसीना की एक रैली पर ग्रेनेड से हमला किया गया था। उस हमले में 24 लोग मारे गए थे। इसके अलावा सैकड़ों लोग घायल हो गए।

यह मामला 14 वर्षों तक अदालत में चलता रहा और बुधवार को सजा का ऐलान किया गया। इस मामले में 50 लोग आरोपी बनाए गए थे। अब उनमें से 19 लोगों को फांसी दी जाएगी। फांसी की सजा पाने वाले दो पूर्व मंत्रियों के नाम लुत्फोज्जमान बाबर और अब्दुस सलाम पिंटू हैं।

इस कांड में बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री खलिदा जिया का बेटा भागीदार रहा है। हालांकि उसे फांसी नहीं बल्कि उम्रकैद सुनाई गई है। उसका नाम तारिक रहमान है और वह बीएनपी का नेता है। वर्ष 2004 की रैली में ग्रेनेड फेंकने के मामले में उसकी भी अहम भूमिका बताई गई है।

फैसला सुनाने से पहले आसपास के इलाकों में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए। इसके बाद आरोपियों को वाहन में बैठाकर जेल से अदालत लाया गया। फिर अदालत ने आरोपियों को उनके अपराध के आधार पर सजा सुनाई। बता दें कि 2004 के ग्रेनेड कांड के समय शेख हसीना विपक्ष की नेता थीं। रैली पर हमला कर उनकी हत्या की कोशिश की गई थी। हालांकि वे इस धमाके से सुरक्षित रहीं।

अदालत के फैसले के बाद बांग्लादेश में चर्चा जोरों पर है कि अब विपक्ष काफी कमजोर हो जाएगा, क्योंकि खालिदा जिया अभी जेल में हैं और उनकी सेहत गिरती जा रही है। वहीं तारिक रहमान को उम्रकैद होने से वहां ऐसा कोई चेहरा नहीं रहेगा जो शेख हसीना को मजबूती से चुनौती दे सके।

ये भी पढ़िए:
– खूबसूरत लड़कियों के नाम से फेसबुक आईडी बनाकर पाक की आईएसआई ऐसे करवा रही जासूसी
– प. बंगाल में कमल खिलाने के लिए भाजपा लगा रही जोर, 3 रथ यात्राओं की तैयारी
– गरीबी में दिन काट रहे मजदूर की खुली किस्मत, खदान से मिला बेशकीमती हीरा
– कौन थे सर छोटूराम जिनकी प्रतिमा का प्रधानमंत्री मोदी ने किया अनावरण?

LEAVE A REPLY