benefits of curd
benefits of curd

बेंगलूरु। नियमित दही का सेवन करने वालों को अनिद्रा, अपच, दस्त, कब्ज और गैस जैसी रोज की तकलीफें नहीं होतीं। भोजन के साथ दही लेने से भोजन शीघ्र पचता है। दूध और दही के रासायनिक घटक लगभग समान होते हैं फिर भी दूध की अपेक्षा दही खाना जल्दी पचाने और शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर सामान्य बनाए रखने में कहीं अधिक उत्तम है। दही को औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता है। पेट संबंधी विकारों के लिए तो दही रामबाण औषधि है। दही के इस्तेमाल के कुछ तरीके:

* दस्त या पेट में मरोड़ होने की स्थिति में दही के पतले घोल के साथ ईसबगोल लेने से फायदा होता है।
* पेट के रोगों में दही का सेवन भुने जीरे एवं सेंधा नमक के साथ करने से फायदा होता है।
* बवासीर के रोगियों को छाछ के साथ भुना जीरा और सेंधा नमक लेना चाहिए।
* बीमारी या किसी अन्य कारण से शरीर का वजन कम हो जाता है तो दही में किशमिश, छुहारा और मूंगफली मिलाकर खाने से वजन ब़ढाने में सहायता मिलती है।

* रक्त स्राव होने पर दही में नमक की तरह जरा सी फिटकरी पीसकर मिलाने के बाद उसे पीने से रक्त स्राव रुक जाता है।
* उच्च रक्तचाप में दही को लहसुन के साथ खाने से फायदा होता है।

* अगर आपको डैंड्रफ (रूसी) की शिकायत है तो दही को नहाने से पहले बालों की जड़ों में लगाने से रूसी से छुटकारा मिलता है।
* कील मुंहासे हैं तो दही के साथ बेसन मिलाकर पेस्ट बना कर फिर उसे चेहरे पर लगाने से कील मुहांसों से छुटकारा मिलता है।

LEAVE A REPLY