fake teacher in up
fake teacher in up

सिद्धार्थ नगर/वार्ता। उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले के प्राइमरी स्कूलों में फर्जी प्रमाणपत्रों के सहारे नौकरी कर रहे 38 शिक्षकों को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बर्खास्त कर दिया। धिकारिक सूत्रों ने सोमवार को यहां बताया कि शिक्षकों को अब तक भुगतान किए गए वेतन की रिकवरी और उनके खिलाफ आपराधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज कराने का भी निर्देश दिया गया है।

सूत्रों ने बताया कि बर्खास्त शिक्षकों की नियुक्ति सितंबर 2016 में हुई थी और नियुक्ति के बाद से ही नियुक्ति से वंचित अभ्यर्थियों ने इन शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई के लिए मोर्चा खोल रखा था।

सूत्रों ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी हर्षिता माथुर की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया था जिसमें उप जिलाधिकारी नौगढ़ और जिला विद्यालय निरीक्षक को भी शामिल किया गया था।

यह खबर सोशल मीडिया पर आने के बाद ऐसे ‘शिक्षकों’ पर सवाल उठ रहे हैं जो फर्जीवाड़ा कर शिक्षा व्यवस्था का हिस्सा बने। लोगों ने सवाल उठाया है कि जो स्वयं योग्य नहीं, उनसे विद्या पढ़ने वाले विद्यार्थियों का क्या भविष्य होगा। लोगों ने ऐसे फर्जी ‘शिक्षकों’ पर कठोर कार्रवाई की मांग की है ताकि भविष्य में फिर कोई शिक्षा व्यवस्था से खिलवाड़ न कर सके।

ये भी पढ़िए:
– शादी को लेकर इस महिला ने दे डाली ऐसी नसीहत, खूब देखा जा रहा यह वीडियो
– इस बैंक में है अकाउंट तो जल्द बदल लें एटीम कार्ड, वजह है बेहद खास
– भोजपुरी गाने पर चांदनी सिंह के डांस ने मचाया धमाल, यूट्यूब पर हिट हुआ यह वीडियो
– वीडियो कॉल पर किया मां का अंतिम संस्कार, पार्सल से मंगवाईं अस्थियां!

LEAVE A REPLY