saurabh madan mithu
saurabh madan mithu

अमृतसर। यहां दशहरे पर हुए दर्दनाक ट्रेन हादसे के बाद अब रावण दहन कार्यक्रम के आयोजक का वीडियो आया है। इसमें उसने रोते हुए खुद को बेगुनाह बताया और कहा कि साजिश के तहत उसे फंसाया जा रहा है। आयोजक ने हाथ जोड़ते हुए कहा कि मेरा कोई कसूर नहीं। हालांकि अभी तक यह मालूम नहीं हुआ कि यह वीडियो कहां रिकॉर्ड किया गया।

दशहरे के दिन रावण दहन के समय ट्रेन हादसे के बाद से ही कार्यक्रम का आयोजक सौरभ मदान ‘मिट्ठू’ फरार था। यह आशंका जताई जा रही थी कि यदि वह लोगों के सामने आ गया तो वे भड़क उठेंगे। अब उसने वीडियो के जरिए अपना पक्ष रखा है और खुद को बेकसूर बताया है।

इस वीडियो में सौरभ ने कहा है कि उस दिन जो हादसा हुआ, वह बहुत ही भयानक और दुखद है। उसने कहा कि हादसे से उसका रोम-रोम दुख में डूबा है। उसने घटना से खुद को बेहद दुखी बताते हुए कहा कि जो हालात बन गए, वो शब्दों से बयान नहीं किए जा सकते।

सौरभ ने कहा कि दशहरे के मौके पर सबको एकजुट कर कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। उसने कहा कि कार्यक्रम के आयोजन को लेकर इजाजत भी ली गई थी। घेरा भी बनाया गया था। उसने दावा किया है कि कार्यक्रम के आयोजन में किसी किस्म की कोई कमी नहीं छोड़ी गई।

सौरभ ने बताया कि वहां पुलिसकर्मी मौजूद थे। दमकल के टैंकर मौजूद थे। उसने कहा कि दशहरा चारदीवारी के अंदर एक मैदान में मनाया जा रहा था, रेल की पटरियों पर नहीं। उसने कहा कि जिस मैदान में दशहरा मनाया जा रहा था, वह 10 फीट ऊंची दीवार से घिरा हुआ है।

सौरभ ने कहा है कि लोग पटरियों पर खड़े थे और अचानक ट्रेन आ गई। उसने कहा कि कुदरत की तरफ से ऐसा हो गया, इसमें उसका क्या कसूर है। उसने दावा किया कि कार्यक्रम के दौरान 10 बार घोषणा करवाई गई कि रेल की पटरियों पर खड़े न हों। उसने कहा कि कुछ लोग उसके खिलाफ साजिश रच रहे हैं।

19 अक्टूबर को अमृतसर के जोड़ा फाटक पर भयंकर ट्रेन हादसा हुआ था। उस समय सैकड़ों लोग रावण दहन देखने के लिए इकट्ठे हुए थे। काफी लोग रेल की पटरियों पर खड़े थे। अचानक ट्रेन आई और वह भीड़ को चीरती हुई आगे निकल गई। उस हादसे में कम से कम 59 लोग मारे गए। घायलों की तादाद 57 तक बताई जा रही है। उस घटना के बाद कार्यक्रम आयोजक सौरभ मदान मिट्ठू फरार हो गया। अब उसने वीडियो जारी कर अपनी बात कही है। यहां सुनिए वीडियो:

ये भी पढ़िए:
– शादी में दहेज पर बिगड़ी बात, लड़की वालों ने दूल्हे का कर दिया मुंडन!
– इंटरनेट पर टूट रहा अंग्रेजी का वर्चस्व, हिंदी और भारतीय भाषाओं का बढ़ रहा जोर!
– मी टू के बाद आया मैन टू, अब पुरुष करेंगे महिलाओं के हा​थों अपने शोषण का खुलासा
– पढ़िए नेताजी सुभाष के सिपाही शाहनवाज ख़ान की दास्तां, जिन्होंने भारत के लिए छोड़ा पाकिस्तान

LEAVE A REPLY