चेन्नई। तमिलनाडु में प्रख्यात नेता ईवी रामास्वामी नायकर पेरियार की प्रतिमा को तो़डे जाने की घटना का भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) महासचिव एच राजा के फेसबुक पोस्ट में समर्थन किए जाने के बाद राज्य की राजनीति में उबाल आ गया है और उनकी गुंडा कानून के तहत गिरफ्तारी की मांग को लेकर भाजपा मुख्यालय पर धरने प्रदर्शन, पुतले फूंकने और पेट्रोल बम हमलों का दौर जारी है। राजा के इस बयान का विभिन्न राजनीतिक पार्टियों और तमिल संगठनों ने जोरदार विरोध किया है और भाजपा के भीतर भी उनके खिलाफ लोग सामने आ गए हैं। पूरे राज्य में उनकी गिरफ्तारी और भाजपा से निकाले जाने की मांग को लेकर हो रहे विवाद को राजा ने यह कहकर ठंडा करने की कोशिश की है कि फेसबुक पोस्ट उनके एडमिन ने बिना उनकी सहमति के लगा दिया था और उन्होंने उस व्यक्ति को हटा दिया है। राजा का कहना है कि जब वह चेन्नई से दिल्ली जा रहे थे तो इसी दौरान उनके एडमिन ने फेसबुक पर उनकी तरफ से यह पोस्ट जारी कर दी और मंगलवार शाम को इसे देखकर उन्होंने इसे तुरंत हटा दिया। राजा ने इस मामले में माफी मांगते हुए कहा है कि अगर इससे किसी की भावना आहत हुई है तो वह माफी मांगते हैं और वह प्रतिमा तो़डे जाने की घटना और हिंसा की जोरदार निंदा करते है। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है और राज्य में पेरियार की प्रतिमाओंं के समक्ष सुरक्षा व्यवस्था क़डी कर दी गई है। विभिन्न राजनीतिक पार्टियों और संगठनों ने भाजपा कार्यालयों के समक्ष धरने देने शुरू कर दिए है।

LEAVE A REPLY