sonia dhawan
sonia dhawan

नई दिल्ली। पेटीएम के मालिक विजय शेखर शर्मा को उनकी सेक्रेटरी और कंपनी के कर्मचारी द्वारा ब्लैकमेल कर करोड़ों रुपए मांगने के मामले में नए खुलासे हो रहे हैं। इस कांड में मुख्य साजिशकर्ता सोनिया धवन को बताया जा रहा है जिसके पास विजय शेखर से जुड़ी काफी जानकारी थी। चूंकि वह सेक्रेटरी थी, इसलिए आसानी से विजय के लैपटॉप और फोन तक पहुंच सकती थी।

एक रिपोर्ट में सोनिया धवन के बारे में बताया गया है कि पिछले करीब एक आठ वर्षों में कंपनी में उसका रुतबा तेजी से बढ़ा। उसके पास करोड़ों के शेयर के अलावा कंपनी में ऊंचा पद था। उसका वेतन 70 लाख रुपए सालाना बताया जा रहा है, जो शुरुआत में सात लाख रुपए सालाना था। विजय की सेक्रेटरी और वाइस प्रेजिडेंट (कम्युनिकेशंस) सोनिया धवन के बारे में यह भी चर्चा है कि वह ब्लैकमेल कर हासिल की गई रकम से अपनी कंपनी शुरू करना चाहती थी लेकिन इसी दौरान विजय को शक हो गया और उन सबकी योजना का भंडाफोड़ हो गया।

रिपोर्ट के अनुसार, जब विजय के पास ब्लैकमेलर का फोन आया तो सोनिया उन्हें सलाह देने लगी कि यह रकम दे देनी चाहिए। इससे विजय का शक और बढ़ गया। बताया गया है कि सोनिया की दोनों पक्षों पर नजर थी। जब सोनिया, उसके पति रूपक और पेटीएम के एक कर्मचारी देवेंद्र की गिरफ्तारी हुई तो इस मामले की कड़ियां खुलकर सामने आने लगीं। ये विजय से 20 करोड़ रुपए ऐंठना चाहते थे। इसके लिए कोलकाता में मौजूद चौथा शख्स रोहित फोन कर रहा था।

sonia dhawan
sonia dhawan

ब्लैकमेलर की ओर से फोन किए जाने के बाद सोनिया विजय शेखर को यह रकम देने के लिए मना रही थी। इस तरह वह दोनों ही पक्षों के संपर्क में थी। उसने विजय से कहा कि रकम दे देनी चाहिए, पता नहीं उसके पास कैसा डेटा हो। इस तरह लगातार दबाव देने से विजय को शक हो गया।

इसके बाद उन्होंने पुलिस की मदद ली। पेटीएम ने एक बयान जारी कर रहा है कि यह मामला विजय शेखर शर्मा के निजी डेटा की चोरी से जुड़ा है। कंपनी ने कहा है कि उसके सभी यूजर्स का डेटा उसके पास सुरक्षित है। अदालत ने मंगलवार को तीनों आरोपियों को 14 दिन के लिए जेल भेज दिया है। इस कार्रवाई में पुलिस ने एक हार्ड डिस्क और एक पेन ड्राइव बरामद किया है।

ये भी पढ़िए:
– सात दिन तक स्मार्टफोन चलाती रही महिला, टेढ़ी हो गईं अंगुलियां
– उप्र पुलिस ने की महिलाओं से अपील- करवा चौथ पर पति को हेलमेट पहनाएं, लंबी उम्र पाएं
– वीडियो: प्रचार करते कांग्रेस विधायक बोले- ‘आपको मेरी इज्‍जत रखनी है, पार्टी गई तेल लेने’
– शिवपाल यादव की पार्टी को मिली मान्यता, अब सपा से भिड़ंत की तैयारी

LEAVE A REPLY