rahul gandhi
rahul gandhi

भोपाल। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर मंगलवार को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय ने मानहानि का मुकदमा दायर किया है। राहुल ने सोमवार को झबुआ में चुनाव प्रचार करते समय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनके बेटे कार्तिकेय पर पनामा पेपर मामले को लेकर गंभीर आरोप लगाए थे। बाद में उन्हें अहसास भी हुआ कि बयान में गड़बड़ी हो गई है। उन्होंने कहा कि वे ऐसा ‘कन्फ्यूजन’ में कह गए थे, लेकिन तब तक मामला काफी तूल पकड़ चुका था।

कार्तिकेय ने पलटवार करते हुए इसे राहुल का बचपना करार दिया था। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यदि कोई जूनियर नेता ऐसा आरोप लगाए तो बात अलग होती, लेकिन स्वयं कांग्रेस अध्यक्ष ऐसे आरोप लगा रहे हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि यदि राहुल गांधी माफी मांग लेते हैं तो उस पर विचार किया जाएगा।

राहुल गांधी ने शिवराज और उनके बेटे पर पनामा पेपर मामले में आरोप लगाते हुए पाकिस्तान का उदाहरण दिया था। उन्होंने कहा था कि वहां नवाज शरीफ का नाम पनामा पेपर में आया तो उन्हें सजा दी गई, जबकि यहां कोई कार्रवाई नहीं हो रही। पनामा पेपर जैसे गंभीर आरोपों में नाम घसीटने के बाद शिवराज और कार्तिकेय बहुत नाराज हुए। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि वे राहुल गांधी पर मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे।

अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शिवराज सिंह चौहान ने लिखा, पिछले कई वर्षों से कांग्रेस मेरे और मेरे परिवार के ऊपर अनर्गल आरोप लगा रही है। हम सबका सम्मान करते हुए मर्यादा रखते हैं, लेकिन आज तो राहुल गांधीजी ने मेरे बेटे कार्तिकेय का नाम पनामा पेपर्स में आया है, कहकर सारी हदें पार कर दीं! कल ही हम उन पर मानहानि का दावा कर रहे हैं।

उनके बेटे कार्तिकेय ने इन आरोपों को झूठा बताते हुए कहा, आज राहुल गांधीजी ने पनामा पेपर्स में मेरे संलिप्त होने का झूठा बयान दिया है। मैं व्यथित हूं कि बचपने की आड़ में सार्वजनिक मंच से मेरी और मेरे परिवार की प्रतिष्ठा खंडित की गई है। यदि 48 घंटे में उन्होंने माफी नहीं मांगी तो मैं उन पर कठोरतम कानूनी कार्यवाही के लिए बाध्य हो जाऊंगा।कार्तिकेय ने कहा है कि पूरी कांग्रेस कन्फ्यूज है। राहुल तो भ्रम में हैं ही, उनके कार्यकर्ता भी कन्फ्यूज हैं कि पार्टी का नेता कौन है।

हालांकि इसके बाद राहुल का बयान तो आया लेकिन उन्होंने सीधे-सीधे माफी नहीं मांगी। राहुल गांधी ने अपनी सफाई में व्यापम और ई-टेंडरिंग के आरोप लगा दिए। आखिर में कार्तिकेय ने उनके खिलाफ मामला दर्ज करा दिया। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव (28 नवंबर) करीब आने के साथ ही नेताओं में आरोप-प्रत्यारोप की बौछार हो रही है।

ये भी पढ़िए:
– पाकिस्तान को सेना का करारा जवाब, एलओसी के करीब मुख्यालय पर हमला, आतंकी अड्डे तबाह
– खाते में अरबों रुपए देखकर कांपने लगा पाकिस्तानी रिक्शा चालक, बीवी हुई बीमार
– बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा ज़िया भ्रष्टाचार की दोषी, 7 साल कैद, 10 लाख जुर्माना

LEAVE A REPLY