ओहियो। अमेरिका के ओहियो में एक न्यायालय में विचित्र दृश्य देखने को मिला। यहां आरोपी इतना ज्यादा बोल रहा था कि न्यायाधीश को गुस्सा आ गया। उन्होंने तुरंत आदेश दिया कि निर्णय सुनाने से पहले आरोपी के मुंह पर टेप चिपका दी जाए। उनके आदेश का पालन किया गया और आरोपी के मुंह पर काफी मजबूती से टेप चिपका दी गई। इस घटना की तस्वीरें प्रकाशित होने के बाद कोई इसे विचित्र घटना बता रहा है तो कई लोगों ने इस पर सवाल भी उठाए हैं।

जानकारी के अनुसार, न्यायाधीश जॉन रसो इस बात से काफी गुस्सा हो गए कि आरोपी फ्रेंकलिन विलियम्स बहुत ज्यादा बोल रहा था। उसे चुप होने के लिए चेतावनी जारी की गई, पर वह नहीं माना। आखिरकार न्यायाधीश का धैर्य जवाब दे गया। उन्होंने विलियम्स का मुंह बंद कराने के लिए यह अनोखा आदेश दिया।

इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर आ गया है। इसमें देखा गया कि आरोपी विलियम्स नारंगी रंग के कपड़े पहने था। वह पुलिसकर्मियों से घिरा हुआ था। सुरक्षा के मद्देनजर उसे हथकड़ियां लगाई गई थीं। जब न्यायाधीश उससे नाराज हो गए तो एक पुलिस अधिकारी टेप लेकर आया और विलियम्स का मुंह चिपका दिया। स्थानीय रिपोर्ट्स के अनुसार, विलियम्स एक शातिर अपराधी है। वह लूटपाट की तीन गंभीर वारदात को अंजाम दे चुका है।

उसे न्यायालय ने दिसंबर 2017 में दोषी पाया था। हालांकि उस वक्त वह पुलिस को चकमा देकर भाग गया। वह जुलाई 2018 में दोबारा कानून के शिकंजे में आया। इस बार खास ध्यान रखा गया कि विलियम्स भाग न पाए। उसे न्यायाधीश के सामने पेश किया गया। यहां विलियम्स किसी की नहीं सुन रहा था। वह करीब आधा घंटे तक बोलता ही गया। न्यायाधीश ने उसका मुंह बंद कराने के बाद 24 साल की सजा सुनाई है। अब विलियम्स को इतना वक्त जेल में ही बिताना होगा। न्यायालय से बाहर ले जाते समय उसके मुंह से टेप हटा दिया गया।

जरूर पढ़िए:
– तो फ़ौज नहीं, इस एप की ‘कृपा’ से चुनाव जीते हैं इमरान ख़ान!
– मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए बुजुर्ग ने मांगी मनौती, पेट के बल कर रहे 90 किमी यात्रा
– पढ़िए मां ढाकेश्वरी के उस मंदिर की कहानी जिसका मज़ाक उड़ाने के बाद युद्ध में हारा पाकिस्तान

LEAVE A REPLY