जम्मू। जम्मू कश्मीर विधानसभा में शनिवार को सुंजवान में एक सैन्य शिविर पर आतंकवादी हमले को लेकर भाजपा सदस्यों द्वारा पाकिस्तान की निंदा किए जाने के बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस के एक वरिष्ठ विधायक ने पाकिस्तान समर्थक नारे लगाए। नेकां ने अपने विधायक मोहम्मद अकबर लोन द्वारा नारे लगाने जाने से खुद को अलग कर लिया। जैसे ही यहां सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो विधायकों ने पार्टी के रुख से इतर आतंकवादी हमले की निंदा की और सरकार की ओर से एक बयान की मांग की। विधानसभा अध्यक्ष कविंदर गुप्ता ने कुछ टिप्पणियां की जिसके बाद भाजपा सदस्यों ने पाकिस्तान के खिलाफ जोरदार ढंग से नारेबाजी की।नेकां विधायक जावेद राणा, अली मोहम्मद सागर, अकबर लोन, अब्दुल माजिद लार्मी और अन्य अध्यक्ष के आसन के समीप आए गए और उन्होंने गुप्ता से माफी की मांग की। इस बीच, भाजपा ने पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी तेज कर दी और इसके जवाब में गुस्साए लोन अपनी सीट पर ख़डे हो गए और वे पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने लगे। पार्टी प्रवक्ता जुनैद अजीम मट्टू ने ट्वीट कर कहा, अभी नेकां प्रमुख फारूक अब्दुल्ला से बात की। पूरी पार्टी इस रुख पर एकमत है कि सोनवारी से नेकां विधायक अकबर लोन ने पार्टी के रुख से अलग बात की और विधानसभा में उनकी नारेबाजी पार्टी के लिए पूरी तरह से अस्वीकार्य है। मट्टू ने कहा कि नेकां प्रमुख ने कहा कि लोन को यह नहीं भूलना चाहिए कि वह ऐसी पार्टी से ताल्लुक रखते हैं जिसने दो राष्ट्र की थ्योरी को नकार दिया था। उन्होंने कहा, पार्टी उनकी टिप्पणी से खुद को अलग करती है और उसकी निंदा करती है।बाद में लोन ने कहा कि उन्होंने सदन के भीतर ’’पाकिस्तान जिंदाबाद’’ के नारे प्रतिक्रियास्वरूप लगाए और वह अपने शब्द वापस नहीं लेंगे। लोन ने सदन के बाहर संवाददाताओं से कहा, ’’भाजपा सदस्यों ने पाकिस्तान-विरोधी नारे लगाए, लेकिन मैंने प्रतिक्रिया उस समय व्यक्त की, जब स्पीकर ने आपत्तिजनक टिप्पणियां कीं।’’उन्होंने कहा,’’हां, मैंने सदन में ’’पाकिस्तान जिंदाबाद’’ के नारे लगाए और मैं अपने शब्द वापस नहीं लूंगा।’’ उन्होंने कहा कि ऐसी बातें होती रहती हैं। लोन ने कहा, मैं सबसे पहले मुसलमान हूं, उसके बाद कश्मीरी, हिंदुस्तानी या पाकिस्तानी, यह अलग बात है। लोन ने कहा कि वह आहत थे और अपनी भावनाओं को काबू में नहीं रख सके और उन्होंने ’’पाकिस्तान जिंदाबाद’’ के नारे लगाए।

LEAVE A REPLY