मुंबई/नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में ११,४०० करो़ड रुपए के घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार को नीरव मोदी तथा मेहुल चौकसी समूहों के खिलाफ मनी लॉ्ड्रिरंग जांच में १०० करो़ड रुपए के शेयरों, जमाओं और लक्जरी कारों को कुर्क किया है। प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने चौकसी समूह से संबंधित ८६.७२ करो़ड रुपए के म्यूचुअल फंड्स और शेयरों और मोदी समूह के ७.८० करो़ड रुपए के शेयर और म्यूचुअल फंड की खरीद-बिक्री पर रोक लगा दी है। इन शेयरों तथा म्यूचुअल फंड का कुल मूल्य ९४.५२ करो़ड रुपए है। वहीं करो़डों रुपए मूल्य की लक्जरी कारें भी कुर्क की गई हैं जिससे संपत्ति का मूल्य १०० करो़ड रुपए से अधिक हो जाता है। अभी तक कुल जब्ती ५,८२६ करो़ड रुपए तक पहुंच चुकी है। एजेंसी ने कहा है कि उसने इसका स्वतंत्र मूल्यांकन कराया है।केन्द्रीय जांच एजेंसी ने पिछले सप्ताह १५ फरवरी से छापेमारी के दौरान नीरव मोदी की नौ लक्जरी कारें भी जब्त कर ली हैं। छापेमारी का सिलसिला गुरुवार को आठवें दिन भी जारी रहा। इन कारों में एक रॉल्स रॉयस घोस्ट, एक मर्सिडीज बेंज, एक पोर्शे पनामेरा, तीन होंडा की कारें, एक टोयोटा फॉच्र्यूनर और एक इनोवा शामिल हैं। पीएनबी के साथ हुई ११,४०० करो़ड रुपए की धोखाध़डी के संबंध में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी तथा उनके कंपनियों के खिलाफ जांच चल रही है। सीबीआई और ईडी ने मामले की जांच के लिए दो-दो एफआईआर दायर की हैं। बताया जाता है कि अपने खिलाफ आपराधिक मामला दायर होने से पहले ही मोदी और चौकसी देश छो़डकर जा चुके हैं।

LEAVE A REPLY