भारतीय अर्थव्यवस्था 2.6 ट्रिलियन डॉलर की है। यह एक ऐसे हाथी की तरह है जिसने तेज गति से दौड़ना शुरू किया है। इसके अलावा आईएमएफ की ताजा रिपोर्ट भी सकारात्मक संकेत दे रही है।

नई दिल्ली। अर्थव्यस्था को लेकर चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स द्वारा तारीफ करने के बाद अब इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (आईएमएफ) ने भी मोदी सरकार के सुधारों पर मुहर लगाई है। इसका कहना है कि भारत की अर्थव्यस्था तेज रफ्तार से बढ़ रही है। आईएमएफ कहता है कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था के तौर पर स्वयं को स्थापित करने की राह पर है। अब इसका फायदा दिखाई दे रहा है।

आईएमएफ के भारतीय मिशन के प्रमुख रानिल सालगादो ने ये बातें कही हैं। उनका कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था 2.6 ट्रिलियन डॉलर की है। यह एक ऐसे हाथी की तरह है जिसने तेज गति से दौड़ना शुरू किया है। इसके अलावा आईएमएफ की ताजा रिपोर्ट भी सकारात्मक संकेत दे रही है। इसके मुताबिक, भारत की विकास दर बढ़ेगी।

इसकी रिपोर्ट कहती है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अगले साल मार्च तक 7.3 प्रतिशत वृद्धि दर से आगे बढ़ेगी। इसके बाद यह दर 7.5 प्रतिशत होगी। कुल मिलाकर यह भारतीय अर्थव्यवस्था के अच्छे दिनों की संभावना जता रही है। इसके अलावा वैश्विक वृद्धि में भारतीय अर्थव्यवस्था का भाग 15 प्रतिशत तक हो जाएगा।

इसके लिए रानिल सालगादो एक अन्य रिपोर्ट का हवाला देते हैं। उन्होंने कहा है कि परचेजिंग पावर पैरिटी की बात करें तो कुल वैश्विक वृद्धि का करीब 15 प्रतिशत भारत के हिस्से में आएगा। उन्होंने कहा कि करीब तीन दशक बाद ही भारतीय कार्यबल जनसंख्या में गिरावट आएगी। इस दीर्घकाल में भारत के पास काफी अवसर हैं, जो कुछ ही एशियाई देशों के पास है। इस वजह से वैश्चिक अर्थव्यवस्था में भारत वृद्धि का स्रोत बना रहेगा।

जरूर पढ़िए:
– इन 4 बुरी आदतों वाले मनुष्य के जीवन में आता है दुर्भाग्य, छोड़कर चली जाती है लक्ष्मी
– यहां लग रहा है शादियों का मेला, इतनी खूबियां हों तो तुरंत हो जाती है बात पक्की!
– अगर आपके पास भी आया है ऐसा एसएमएस तो सचेत रहें, ठग कर सकते हैं खाता खाली
– शादी रचाकर सुर्खियों में आया लादेन का बेटा, दुल्हन का बाप भी कुख्यात आतंकी

LEAVE A REPLY