कोप्पल। अपने नरम हिंदुत्व एजेंडा के तहत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर कर्नाटक के मंदिरों का दौरा किया। इस यात्रा के दौरान उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा को खारिज करने का मतदाताओं से आह्वान भी किया। शनिवार को होसपेट में जनसभा के बाद वे कोप्पल में हिलीगेम्मा मंदिर और गावी मठ भी गए। रविवार को गंगावती के रास्ते कनकगिरि स्थित कनकचलापति मंदिर का भी उन्होंने दर्शन किया। गौरतलब है कि भगवान विष्णु का कनकचलापति मंदिर १६ वीं सदी का मंदिर है। कोप्पल जिले के गंगावती तालुक के कनकगिरि शहर में यह मंदिर स्थित है। कनकागिरि मंदिर के बाद वह लिंगायत समुदाय द्वारा संचालित मशहूर मल्लिकार्जुन मंदिर भी वे जानेवाले हैं। हैदराबाद-कर्नाटक के अपने चार दिवसीय दौरे में राहुल गांधी कलबुर्गी में ख्वाजा बंदेनवाज दरगाह, शरणबासवा मंदिर, बसव कल्याण स्थित अनुभवा मंटप भी जाएंगे। भाजपा के कट्टरपंथी हिंदुत्व को चुनौती देने के लिए इसे कांग्रेस का नरम हिदुत्व बताया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि उत्तरप्रदेश चुनाव के दौरान देवरिया-दिल्ली किसान यात्रा शुरू करने से पहले राहुल गांधी ने मंदिर गए थे। इसके बाद गुजरात चुनाव के दौरान भी उन्होंने २७ मंदिरों का दौरा किया था।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY