चेन्नई। मुख्यमंत्री ईडाप्पाडी के पलानीस्वामी ने बुधवार को यहां राज्य सचिवालय स्थित एक सभागार में राज्य के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारियों के तीन दिवसीय सम्मेलन के आखिरी दिन अधिकारियों के सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने तमिल संत कुमारगुरुबरार के वाक्यों को उद्धृत करते हुए अधिकारियों से कहा कि वह राज्य आतंकवाद, उग्रवाद और संप्रदायवाद को दूर रखने के लिए समर्पित ढंग से कार्य करें। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को दूसरे राज्यों से यहां आकर दुकानों को लूटने वाले और नागरिकों को नुकसान पहुंचाने वाले अपराधियों से क़डाई से निपटना चाहिए।उन्होंने कहा जिस प्रकार सेना के जवान हमारे देश की सीमा के रक्षक हैं ठीक उसी प्रकार आप लोग हमारे राज्य की रक्षा करने वाले देवदूत हो। आप लोगों की बहादुरी और कठिन परिश्रम तथा आपके द्वारा चुनौतियों को स्वीकार करने और अपनी जान को खतरे में डालकर सेवा देने के कारण ही राज्य में शांति का माहौल कायम हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि चाहे यह पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता का शासनकाल रहा हो या मौजूदा सरकार का कार्यकाल हो, राज्य में पुलिस को बिना किसी राजनीतिक हस्तक्षेप के स्वतंत्र ढंग से कार्य करने की आजादी दी गई है क्योंकि यदि उन्हें इस प्रकार से कार्य करने की आजादी नहीं दी जाएगी तो वह अपना कार्य प्रभावी ढंग से नहीं कर पाएंगे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर राज्य की कानून व्यवस्था बनाए रखने और शांति बहाल रखने के लिए पुलिसकर्मियों को बधाई भी दी।झ्रु्यध्फ् ·र्ैंर्‍ फ्द्यय्ब्द्मय् ·र्ैंर्‍मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष २०१३ से लेकर अब तक पिछले चार वर्षों के दौरान राज्य चोरी हुई वस्तुओं को बरामद करने और इस प्रकार की वारदातों को अंजाम देने वाले अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाने मंें अग्रणी राज्य रहा है। उन्होंने कहा कि मैं चेन्नई महानगर और कोयंबटूर को देश में महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित स्थान बनाने के लिए अपने राज्य की पुलिस को शुभकामनाएं देता हूं और मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि चेन्नई का आरएस पुरम पुलिस स्टेशन और चेन्नई का अन्ना नगर पुलिस स्टेशन देश के सर्वश्रेष्ठ पुलिस स्टेशनों में स्थान बनाने में सफल हुआ है।उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के साथ ही हमारे राज्य की पुलिस बल अन्य गतिविधियों में भी अच्छा प्रदर्शन कर रही है। उन्होंने बताया कि हाल ही में आयोजित विभिन्न राज्यों की पुलिस के लिए राष्ट्रीय प्रतियोगिता में तमिलनाडु पुलिस अग्रणी रही और सबसे ज्यादा मेडल लाने में कामयाब हुई। उन्होंने कहा कि यद्यपि पुलिस काफी प्रभावी ढंग से कार्य कर रही है लेकिन बढती जनसंख्या, लोगों की जीवन शैली में आए परिवर्तन, साइबर अपराधों में बढोत्तरी और यातायात व्यस्ता बढने के कारण उनका कार्य अधिक चुनौतीपूर्ण हो गया है।पलानीस्वामी ने कहा कि स़डक सुरक्षा औद्योगिक विकास और लोगों को बिना बाधा के एक स्थान से दूसरे स्थान अपने कार्यों के लिए जाने में मदद करता है। हमारी पुलिस एंबुलेंस, गश्ती वाहनों और स़डक सुरक्षा के लिए अन्य उपकरणों की मदद से स़डक सुरक्षा को बेहतरीन बनाने का कार्य कर रही है इसके लिए मैं पुलिस विशेषकर यातायात पुलिस को बधाई देता हूं। कार्यक्रम के दौरान राज्य के उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने भी पुलिस अधीक्षकों और जिला कलेक्टरों को संबोधित किया और उनके द्वारा राज्य के लिए दी जा रही समर्पित सेवाओं की प्रशंसा की। इस अवसर पर राज्य की मुख्य सचिव गीरिजा वैद्यनाथन एवं राज्य सचिवालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY