चेन्नई। शुक्रवार को राज्य में ६९वां गणतंत्र दिवस देशभक्ति की भावना और उल्लास के साथ मनाया गया। राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने यहांं मरीना बीच पर ध्वजारोहण किया। पुरोहित ने सेना की तीनों शाखाओं और अन्य सुरक्षा एजेंसियों की सलामी भी ली। मुख्यमंत्री के.पलानीस्वामी उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम और उनके मंत्रियों और ब़डी संख्या में लोगों ने रंगीन पोशाक पहने हुए स्कूली बच्चों द्वारा पेश किए गए नृत्य व विभिन्न प्रस्तुतियों का आनंद लिया। गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद एक रंग बिरंगी परेड निकाली गई जिसमें सेना के तीनों अंगा थल सेना, जल सेना और वायु सेना के साथ ही भारतीय तट रक्षक बल और ऑफीसर ट्रेनिंग एकेडमी के जवानों और अधिकारियों ने मार्च पास्ट किया। इस अवसर पर शहर के विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों, स्काउट एवं गाइड तथा विभिन्न सरकारी विभागों द्वारा मनामोहन झांकिया प्रस्तुत की गई। इस अवसर पर राज्यपाल ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए राज्य के लोगों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी और इसके महत्व के बारे में बताया। राज्यपाल ने इस अवसर पर केन्द्र की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार और राज्य की सत्तारुढ अखिल भारतीय अन्ना द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) सरकार की प्रशंसा की। उन्होनंे मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामी और उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा भी की। राज्यपाल ने कहा कि राज्य के विभिन्न जिलों का दौरा करने के बाद उन्हें राज्य के लोगों की समस्याओं को जानने का मौकिा मिला। उन्होंन कहा कि अपने दौरे के दौरान उन्हें पता चला कि राज्य के लोगों को आवास के भूखंडों का पट्टा प्राप्त करने का इंतजार है। इसके साथ ही राज्य के लोग जलापूर्ति जैसी जनसुविधाओं का भी इंतजार कर रहे हैं। गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ईडाप्पाडी के पलानीस्वामी ने विभिन्न पुरस्कार विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किया। उन्होंने बहादुरी के लिए दिया जाना अन्ना मेडल, सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने के लिए कोट्टै आमीर पुरस्कार, उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों को गांधी अडिगल पुलिस मेडल और कृषि क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए राज्य कृषि विभाग की ओर से दिया जाने वाला विशेष पुरस्कार राज्य के एक किसान को आधुनिक ढंग से धान की खेती करने के लिए प्रदान किया। इस अवसर पर कुल मिलाकर राज्य के १६ विभागों ने अपनी झांकिया प्रस्तुत की। भारतीय वायु सेना के हेलिकॉप्टरों ने गणतंत्र दिवस समारोह स्थल पर आसामन से फूलों की बारिश की। थल सेना द्वारा अपने टी-९० तोपों एवं अन्य आधुनिक हथियारों को प्रदर्शित किया गया। राज्य के दक्षिणी जिलों के लोक कलाकारों द्वारा सुंदर लोक नृत्य की प्रस्तुती दी गई। गणतंत्र दिवस समारोह को देखने के लिए १० हजार से अधिक लोग पहुंचे थे।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY