चेन्नई। राजनीति में आने की घोषणा करने वाले तमिल फिल्मों के सुपरस्टार कमल हासन ने बुधवार को कहा कि राजनीति में मेरा आना अंतिम है और मैं अब राजनीति से वापसी नहीं करुंगा। उन्होंने बुधवार को एक स्थानीय समाचार चैनल से बातचीत के दौरान यह स्पष्ट किया कि एक बार राजनीति में आने के बाद वह फिल्मों को पूरी तरह से छो़ड देंगे और अभिनय नहीं करेंगे। उन्होंने बताया कि वह फिलहाल विश्वरुपम-२ और इंडियन-२ नामक दो फिल्में कर रहे हैं और यह दोनों फिल्में उनके फिल्मी कैरियर की अंतिम फिल्में होंगी। उन्होंने कहा कि एक बार राजनीति में आने के बाद उनका पूरा ध्यान राज्य के लोगों की भलाई और राज्य के विकास पर के्द्रिरत होगा।अभिनय की दुनिया में सफलता की ऊंचाइयों को छूने के बाद कमल हासन ने राजनीति में आने की घोषणा कर दी है और वह आगामी २१ फरवरी से राज्य की यात्रा पर निकलकर अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत करेंगेे। उन्होंने कहा कि मैं हमेशा शिकायत करते और नाराज होते नहीं रह सकता। उन्होंने कहा कि यदि आपको कुछ परिवर्तन करना है तो इसके लिए पहले आपको उस क्षेत्र में उतरना होगा। अगर आप खुद उस क्षेत्र में नहीं उतरते तो आप सुधार नहीं कर सकते हैं।रजनीकांत के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह एक अच्छी बात है कि तमिलनाडु की मौजूदा परिस्थितियों को बदलने के ऐसे दो लोग सामने आए हैं जो एक व्यापक परिवर्तन के इच्छुक हैं। उन्होंने कहा कि मैं आगामी २१ फरवरी को अपनी राजनीति की योजनाओं के बारे में बताऊंगा। इस दौरान मैं यह स्पष्ट करुंगा कि मेरी राजनीतिक यात्रा किन नीतियों और सिद्धांतों पर चलेगी। रजनीकांत को भी ऐसा करना होगा ताकि लोगों को यह समझ आ सके कि राजनीति में उनके आगमन का मुख्य उद्देश्य क्या है और वह राज्य में किस प्रकार परिवर्तन के इच्छुक हैं? उन्होंने कहा कि यदि रजनीकांत द्वारा अपनी योजनाओं का खुलासा करने के बाद मुझे ऐसा लगता है कि हम दोनों की विचारधारा समान है तो मुझे उनके साथ आने में कोई हर्ज नहीं होगा। उन्होंने बताया कि हाल ही में उन्होंने हार्वर्ड विश्वविद्यालय में एक व्याख्यान दिया और उनके इस विश्व प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में जाने का मुख्य कारण यह था कि वह राज्य के ८ पिछ़डे गांवों को गोद लेने की परियोजना को शुरु करने के लिए अच्छे विचार जुटा सकंें। उन्होंने राज्य के ८ ऐसे गांवों का चयन किया है जहां पर अभी भी बेहतर सुविधाआंंे का अभाव है और गांव के लोगों को अपने कई प्रकार के कार्यों के लिए लंबी दूरी तय करके शहर तक जाना होता है। उन्होंने बताया कि इन गांवों मेंे शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता जैसी मूलभूत सुविधाओं का भी अभाव है और अपनी परियोजना के तहत वह इन गांवों में स्वाथ्य, शिक्षा, बिजली, और साफ पानी उपलब्ध करवाएंगे।उन्होंने कहा कि यह सही है कि वह राजनीति से दूर रहे हैं लेकिन पिछले ३७ वर्षों से वह सामाजिक कार्यों से जु़डे रहे हैं और समाजसेवा के कार्यों के माध्यम से ही उन्होंने राज्य में अपने १० लाख वफादार समर्थकों को एकजुट किया है। यह ऐसे लोग हैं जो पिछले तीन दशकों से अभिनेता के साथ हैं। अब कमल हासन के निर्देश पर उनके यह प्रशंसकों और अधिक युवाओं को उनके साथ जो़डने का कार्य शुरु कर दिया है। उन्होंने बताया कि राज्य के लगभग २५० अधिवक्ताओं ने भी उनके साथ आने की इच्छा जाहिर की है। अभिनेता ने कहा कि वह राजनीति में अपना बैंक बैलेंस बढाने नहीं आए हैं वह यदि चाहते तो एक खुशमय सेवानिवृत्त जीवन बिता सकते थे लेकिन वह सिर्फ एक अभिनेता के तौर पर जीवन समाप्त नहीं करना चाहते और लोगों की सेवा करते-करते मरना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY